राज्यसभा चुनाव : आखिर निर्दलीय राज्यसभा प्रत्याशी प्रकाश बजाज हैं कौन?

एक बार फिर से निर्दलीय उम्मीदवार प्रकाश बजाज सब की निगाहों में चढ़ गए। राजनीतिक दलों के साथ जनता भी प्रकाश बजाज के बारे में जानना चाहती है। आखिर राज्यसभा प्रत्याशी प्रकाश बजाज है कौन (Who is Prakash Bajaj)।

By: Mahendra Pratap

Published: 28 Oct 2020, 05:45 PM IST

लखनऊ. यूपी की 10 राज्यसभा सीटों के लिए सभी दल अपनी गोटियां चल रहे हैं। अभी तक 10 सीटों के लिए 11 उम्मीदवार ने नामांकन किया था। जिस वजह से 10वीं राज्यसभा सीट पर जीत किसकी होगी इस पर पर्टियों का सही—सही अनुमान नहीं लग पा रहा था। पर बुधवार सुबह अचानक राजनीतिक गलियारों में चर्चा का बाजार गर्म हो गया। बसपा में अचानक 7 बागी निकल आए। और जिनमें से चार ने लिख कर बसपा प्रत्याशी रामजी गौतम का प्रस्तावक बनने से इनकार कर दिया। जहां राम जी गौतम की उम्मीदवारी खतरे में आ गई है वहीं एक बार फिर से निर्दलीय उम्मीदवार प्रकाश बजाज सब की निगाहों में चढ़ गए। राजनीतिक दलों के साथ जनता भी प्रकाश बजाज के बारे में जानना चाहती है। आखिर राज्यसभा प्रत्याशी प्रकाश बजाज है कौन (Who is Prakash Bajaj)।

उनके पास पर्याप्त वोट हैं :- मंगलवार दोपहर तीन बजे अप्रत्याशित तौर पर कॉरपोरेट अधिवक्ता प्रकाश बजाज ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन कर बीएसपी प्रत्याशी रामजी गौतम के मंसूबों पर पानी फेर दिया। बताया जा रहा है कि प्रकाश बजाज को समाजवादी पार्टी का समर्थन हासिल है। इसी समर्थन के बल पर वह इतराते घूम रहे हैं। प्रकाश बजाज ने दावा किया कि वह मजाक में राज्यसभा चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। उनके पास पर्याप्त वोट हैं।

मोदी के संसदीय क्षेत्र के निवासी है प्रकाश :- प्रकाश बजाज (38 वर्ष) पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के रहने वाले हैं। उनका घर जिले के जवाहर नगर इलाके में है। वह पेशे से एक कॉरपोरेट वकील हैं। मुंबई में प्रैक्टिस करते हैं। प्रकाश बजाज ने बीकॉम, एलएलबी, पीजी डिप्लोमा इन बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के साथ मास्टर ऑफ लॉ व कंपनी सेक्रेटरी की पढ़ाई हैं। प्रकाश की पत्नी भी वकील हैं।

विधायक के बेटे हैं प्रकाश बजाज:- प्रकाश बजाज के बारे में सबसे अहम जानकारी यह है कि वे राजनीतिक परिवार से हैं। प्रकाश बजाज के पिता प्रदीप बजाज, जनता पार्टी से वर्ष 1977 में देवरिया सीट से विधायक थे। इसके साथ ही वह काशी विश्वनाथ मंदिर न्यास के सदस्य के तौर पर भी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। वह उम्र के इस पड़ाव पर राजनीति से संन्यास ले चुके हैं। वाराणसी के जवाहर नगर में रहने वाले प्रदीप बजाज ने अपने बेटे के लिए राजनीति का मैदान तैयार किया है। प्रदीप बजाज ने बताया कि निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में सभी दलों का समर्थन मिल रहा है।

पिता का समाजवादी पार्टी से पुराना नाता :- प्रदीप बजाज मूलरूप से देवरिया के रहने वाले हैं। वाराणसी में आकर उन्होंने अपना कारोबार शुरू किया। और फिर परिवार के साथ यहीं बस गए। वाराणसी में बजाज का परिवार आर्थिक और सामाजिक रूप से अच्छे हैसियत रखता है। कुछ वरिष्ठ राजनीतिज्ञों की मानें तो प्रकाश बजाज के पिता प्रदीप बजाज का समाजवादी पार्टी से पुराना नाता रहा है।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned