scriptLucknow Saharanpur voter id issue ECI Revealing employees Gave Passwor | सहारनपुर वोटर आइडी मामला : चुनाव आयोग के कर्मचारियों ने ही दिया पासवर्ड | Patrika News

सहारनपुर वोटर आइडी मामला : चुनाव आयोग के कर्मचारियों ने ही दिया पासवर्ड

- केंद्रीय चुनाव आयोग ने कहा, नागरिकों के डेटा सुरक्षित
- मामले की जांच करेगी यूपीएसटीएफ, चार और गिरफ्तार

लखनऊ

Updated: August 14, 2021 05:23:34 pm

लखनऊ. सहारनपुर में मतदाता पहचान पत्र बनाए जाने के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। केंद्रीय चुनाव आयोग के दो संविदा कर्मचारियों ने ही आयोग के अधिकारियों के लॉगिन और पासवर्ड सहारनपुर के विपुल सैनी और अन्य के साथ शेयर किए थे। इस मामले में मुख्य सरगना सहित चार अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है। यूपी सरकार ने मामले की जांच एसटीएफ को सौंप दी है। इस बीच केंद्रीय चुनाव आयोग ने स्पष्ट किया है कि नागरिकों को घबराने की जरूरत नहीं हैं। सभी के डेटा सुरक्षित हैं।
सहारनपुर वोटर आइडी मामला : चुनाव आयोग के कर्मचारियों ने ही दिया पासवर्ड
सहारनपुर वोटर आइडी मामला : चुनाव आयोग के कर्मचारियों ने ही दिया पासवर्ड
मास्टर माइंड को सहारनपुर लाया गया

आइडी कार्ड मामले में सहारनपुर के विपुल सैनी की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने शनिवार को चार और गिरफ्तार कर लिया। इनमेेंआशीष जैन, आदित्य खत्री, अरमान मलिक उर्फ मोहम्मद नियाज अहमद और नितिन शामिल हैं।इन्हें न्यायालय में पेश किया गया। सहारनपुर के एसएसपी डॉक्टर एस.चन्नपा ने बताया कि आजादपुर दिल्ली निवासी आशीष जैन, कमल विहार दिल्ली निवासी आदित्य खत्री, अमन विहार दिल्ली निवासी अरमान मलिक उर्फ मोहम्मद नियाज आलम और सराय बस्ती दिल्ली निवासी नितिन को कोर्ट में पेश किया गया है। चारों के रिमांड की अर्जी डाली गयी है। मप्र के मुरैना जिले के अम्भा कस्बे में हरिओम नामक व्यक्ति जो साइबर कैफे चलाता है उसकी भी संलिप्तता मिली है।
सहारनपुर मामले में चुनाव आयोग का वेबसाइट हैक होने से साफ इनकार कहा, जनता का डेटा पूरी तरह से सुरक्षित

संविदा पर हैं दोनों कर्मचारी

आदित्य खत्री और नितिन भारत निर्वाचन आयोग दिल्ली कार्यालय में संविदा कर्मचारी हैं। इन्हीं दोनों ने भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट के यूजर नेम और पासवर्ड साइबर कैफे चलाने वाले अरमान मलिक और आशीष जैन को दिए। इनमें एक डाटा एंट्री ऑपरेटर है। अरमान मलिक ने विपुल सैनी को वोटर आइडी कार्ड बनाने का काम सौंपा।
ईसीआई का डेटाबेस सुरक्षित-आयोग

केंद्रीय चुनाव आयोग ने वेबसाइट हैक होने से इनकार किया है। आयोग का कहना है कि ईसीआई का डेटाबेस बिल्कुल सेफ और सेक्योर है। आयोग के अनुसार सहायक मतदाता सूची अधिकारी को मतदाता पहचान पत्र की छपाई और समय पर वितरण सहित अन्य सेवाएं देने के लिए अधिकृत किया गया है। वहीं से पासवर्ड लीक हुआ।
यूपी निर्वाचन आयोग भी सतर्क

इस प्रकरण के बाद योगी आदित्यनाथ सरकार गंभीर हो गयी है। यूपी के मुख्य चुनाव अधिकारी अजय कुमार शुक्ला और डीएम सहारनपुर अखिलेश सिंह की मांग के बाद मामले की जांच यूपी एसटीएफ को सौंपी गयी है। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने इसकी पुष्टि की है।
दोषी मिलने पर सख्त कार्रवाई

मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने कहा मामले की जांच हो रही है। दोषियों पर सख्त कार्रवाई होगी।

वेबसाइट में सेंध को राज्य का संरक्षण तो नहीं: अखिलेश
चुनाव आयोग की वेबसाइट को कथित तौर पर हैक किए जाने की ख़बरों पर सपा नेता अखिलेश यादव ने कहा है कि ऐसे घपलों के लिए पूरे राज्य में जांच होनी चाहिए। उन्होंने आशंका जताई है कि कहीं इसे सरकार से संरक्षण प्राप्त तो नहीं है। अखिलेश यादव ने ट्वीट कर यह आशंका जतायी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.