यूपी में 18 दिन में सिर्फ साढ़े तीन लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद

- एक अप्रैल से पूरे यूपी में गेहूं की खरीद (wheat procurement ) शुरु
- इस बार 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीद का टारगेट
- कोरोना प्रकोप और पंचायत चुनाव सरकारी गेहूं खरीद में बने बाधा

By: Mahendra Pratap

Published: 19 Apr 2021, 04:32 PM IST

लखनऊ. एक अप्रैल से पूरे यूपी में गेहूं की खरीद शुरु हो चुकी है। उत्तर प्रदेश सरकार ने इस बार 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीद का टारगेट रखा है। अभी तक 18 दिन बीतने के बाद 3,55,2495.47 मैट्रिक टन गेहूं की खरीद हो चुकी है। कोरोना प्रकोप और पंचायत चुनाव की वजह से सरकारी गेहूं खरीद केंद्र (wheat procurement ) पूरी तरह से काम नहीं कर रहे हैं।

किसानों के लिए खुशखबर, यूपी में 6000 क्रय केंद्रों पर गेहूं खरीद शुरू, तीन दिन में होगा भुगतान

अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल (Navneet Sehgal ) ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए गेहूं की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर जारी है। अब तक 3552495.47 मैट्रिक टन गेहूं की खरीद हो चुकी है। प्रदेश में 6000 सरकारी गेहूं खरीद केंद्र बनाए गए हैं।

कृषि उत्पादन संगठन खरीदेंगे गेहूं :- इसके साथ ही कृषि उत्पादन संगठनों को भी गेहूं खरीद केंद्र खोलने की अनुमति दी गई है। कृषि उत्पादन संगठन प्रदेश में 150 क्रय केंद्र खोलेंगे। यूपी में 1 अप्रैल से शुरू हुई गेहूं खरीद 15 जून तक जारी रहेगी।

टारगेट 55 लाख मीट्रिक टन :- उत्तर प्रदेश गेहूं उत्पादन में करीब 35 फीसदी योगदान देने वाला राज्य है। प्रदेश सरकार ने इस बार 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीद का टारगेट रखा है। बीते वर्ष का लक्ष्य 36 लाख टन मुश्किल से पूरा हुआ था। स्टेट कोऑपरेटिव फेडरेशन द्वारा 3500 केंद्र संचालित किए गए हैं।

Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned