विकास दूबे की गिरफ्तारी पर प्रियंका गांधी, अखिलेश यादव और ओमप्रकाश राजभर ने कहा, गिरफ्तारी है या आत्मसमर्पण

कानपुर हत्याकांड का मुख्य आरोपी विकास दूबे मध्य प्रदेश के उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया। यूपी पुलिस और एसटीएफ पूरे यूपी में खाक छान रही थी।

By: Mahendra Pratap

Updated: 09 Jul 2020, 02:21 PM IST

लखनऊ. कानपुर हत्याकांड का मुख्य आरोपी विकास दूबे मध्य प्रदेश के उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया। यूपी पुलिस और एसटीएफ पूरे यूपी में खाक छान रही थी। इधर विकास दूबे ने अपने खुरपेंची दिमाग से यूपी पुलिस को गच्चा दे दिया। उसकी गिरफ्तारी पर विपक्षी दलों के मन में एक संशय उठ रहा है कि यह गिरफ्तार है या आत्मसमर्पण का नया रुप। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि यह मिलीभगत की ओर इशारा करता है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का कहना है कि यूपी सरकार ये बताए कि विकास दूबे का ये आत्मसमर्पण है या गिरफ़्तारी, इसी बात पर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने पूछा, सरकार सार्वजनिक करें वहा तक पहुचाने में किसका हाथ रहा?।

विकास दूबे की गिरफ्तारी पर प्रियंका गांधी, अखिलेश यादव और ओमप्रकाश राजभर ने कहा, गिरफ्तार है या आत्मसमर्पण

यूपी सरकार मामले की सीबीआई जांच कराए : प्रियंका गांधी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी सरकार के काम और कानून व्यवस्था पर इशारा करते हुए अपने ट्विट पर लिखा कि, कानपुर के जघन्य हत्याकांड में यूपी सरकार को जिस मुस्तैदी से काम करना चाहिए था, वह पूरी तरह फेल साबित हुई। अलर्ट के बावजूद आरोपी का उज्जैन तक पहुंचना, न सिर्फ सुरक्षा के दावों की पोल खोलता है बल्कि मिलीभगत की ओर इशारा करता है।

प्रियंका गांधी ने लिखा कि, तीन महीने पुराने पत्र पर ‘नो एक्शन’ और कुख्यात अपराधियों की सूची में ‘विकास’ का नाम न होना बताता है कि इस मामले के तार दूर तक जुड़े हैं। यूपी सरकार को मामले की सीबीआई जांच करा सभी तथ्यों और प्रोटेक्शन के ताल्लुकातों को जगज़ाहिर करना चाहिए।

विकास दूबे की गिरफ्तारी पर प्रियंका गांधी, अखिलेश यादव और ओमप्रकाश राजभर ने कहा, गिरफ्तार है या आत्मसमर्पण

ये आत्मसमर्पण है या गिरफ़्तारी : अखिलेश यादव

पांच लाख रुपए इनामी विकास दूबे को पुलिस ने पकड़ लिया है। समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने अपने ट्विट के जरिए गुरुवार को आठ यूपी पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी विकास दूबे की गिरफ्तारी पर संशय जताई है, उन्होंने लिखा है कि, ख़बर आ रही है कि ‘कानपुर-काण्ड’ का मुख्य अपराधी पुलिस की हिरासत में है, अगर ये सच है तो सरकार साफ़ करे कि ये आत्मसमर्पण है या गिरफ़्तारी। साथ ही उसके मोबाइल की सीडीआर सार्वजनिक करे जिससे सच्ची मिलीभगत का भंडाफोड़ हो सके।

विकास दूबे की गिरफ्तारी पर प्रियंका गांधी, अखिलेश यादव और ओमप्रकाश राजभर ने कहा, गिरफ्तार है या आत्मसमर्पण

विकास दुबे के पीछे कौन था : ओम प्रकाश राजभर

कानपुर कांड का मोस्ट वांटेड विकास दुबे मैनेजमेंट में हुआ सफल, यूपी पुलिस पूरी तरह से हुई फेल इस पर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने यूपी सरकार से सवाल करते हुए लिखा कि, मध्यप्रदेश के उज्जैन महाकाल मंदिर में दर्शन के बाद योगी सरकार को आवाज़ लगाया,'कानपुर काण्ड' का आतंकी चिल्लाकर बोला मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला,सरकार सार्वजनिक करें वहा तक पहुचाने में किसका हाथ रहा? कौन दे रहा था संरक्षण? विकास दुबे के पीछे कौन था इसका बयान सार्वजनिक किया जाय।

ओम प्रकाश राजभर ने अपने दूसरे ट्विट पर लिखा कि, मध्यप्रदेश में ‘कानपुर-काण्ड’ का मुख्य आरोपी विकास दुबे ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया,उ.प्र.सरकार नाकाम होने के बाद खुद विकास दुबे पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया,अब योगी जी अपना पीठ थपथपा बंद कर दें,यूपी पुलिस नाक़ाम साबित हुई,योगी जी बताये,गिरफ्तारी हुई या खुद सरेंडर किया।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned