युवाओं को 2500 रुपए भत्ता, विधवाओं-दिव्यांगों को 500 रुपए महीना पेंशन, जानिए आपको कैसे मिलेगा इसका लाभ

-स्वरोजगार से जोडऩे के लिए मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना और युवा हब की घोषणा
-दोनों योजनाओं के संचालन के लिए 150 करोड़ की व्यवस्था
-कारोबार के लिए एक हजार 200 करोड़ की परियोजनाएं
-युवा और युवा हब से बदलेगी बेरोजगारों की तकदीर

By: Mahendra Pratap

Published: 18 Feb 2020, 03:28 PM IST

लखनऊ. उप्र के इतिहास में अब तक के सबसे बड़े 512860.72 करोड़ रुपए का बजट पेश किया गया। योगी सरकार के चौथे बजट में युवाओं को 2500 रुपए प्रतिमाह भत्ता और विधवाओं व दिव्यांगों को 500 रुपए हर महीने पेंशन देने की घोषणा की गयी है। इसके लिए अलग से बजट का प्रावधान किया गया है।

वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए मंगलवार को पेश हुए बजट में प्रदेश के युवाओं को स्वरोजगार और रोजगार से जोडऩे के लिए दो महत्वपूर्ण योजनाओं-मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना और उद्यमिता विकास अभियान शुरू करने का निर्णय लिया गया है।

मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना से मिलेगा रोजगार :- प्रदेश के युवाओं को उद्योगों और एमएसएमई इकाईयों में ऑन-जॉब ट्रेनिंग प्रदान कराते हुए उन्हें निश्चित अवधि के रोजगार से जोडऩे के लिए वित्तीय वर्ष 2020-21 से मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना प्रारंभ की गयी है। इस योजना में युवाओं को उद्योगों में प्रशिक्षण के साथ-साथ मासिक प्रशिक्षण भत्ता प्रदान दिया जाएगा। युवाओं को मिलने वाले कुल भत्ते में से 1500 रुपए प्रतिमाह की धन राशि केंद्र सरकार द्वारा, एक हजार रुपए प्रतिमाह की धन राशि राज्य सरकार द्वारा और शेष धन राशि संबंधित उद्योग द्वारा वहन की जाएगी। इस योजना के संचालन से प्रदेश के उद्योगों को कुशल कारीगर और युवाओं को प्रशिक्षण के साथ-साथ रोजगार भी प्राप्त होगा। इस योजना के लिए 100 करोड़ रुपए की धनराशि आवंटित की गयी है।

प्रदेश के हर जिले में युवा हब खुलेंगे :- युवा उद्यमिता विकास अभियान के द्वारा रोजगार से स्वावलंबन की ओर ले जाने के लिए हर जिले में युवा हब खुलेगा। यहां इच्छुक युवाओं को परियोजना, परिकल्पना से लेकर एक वर्ष तक परियोजनाओं को वित्तीय मदद के साथ संचालन में सहायता प्रदान की जाएगी। अभी लगभग एक हजार 200 करोड़ रुपए की धनराशि युवाओं के लिए विभिन्न स्वरोजगार योजनाओं के तहत यूपी को उपलब्ध है। इस योजना के तहत एक लाख युवाओं को स्वावलंबी बनाया जाएगा। युवा हब की स्थापना के लिए 50 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गयी है। इस बजट में युवाओं को रोजगार व स्वरोजगार से जोड़ने के लिए दो बड़ी योजनाओं का एलान किया गया है। उन्हें इसके तहत युवाओं को उद्योगों व एमएसएमई इकाइयों में ऑन-जॉब ट्रेनिंग देने के लिए उन्हें निश्चित अवधि के रोजगार से जोडऩे के उद्देश्य से मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना शुरू की जाएगी।

वंचितों को पेंशन :- योगी सरकार ने दिव्यांगों को 500 रुपए प्रतिमाह पेंशन देने के लिए 621 करोड़ रुपए की व्यवस्था की है। इस राशि से प्रदेश के दिव्यांगों को पेंशन मिलेगी। इसी तरह तलाकशुदा महिलाओं को भी 500 रुपए महीने पेंशन मिलेगी। निराश्रित महिला पेंशन योजना के तहत एक हजार 432 करोड़ रुपए का बजट दिया गया है। इस राशि से निराश्रित महिलाओं और उनके बच्चों का भरण पोषण किया जा सकेगा। जबकि वृद्वावस्था और किसान पेंशन योजना के लिए 1 हजार 459 करोड़ और राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के लिए 1 हजार 251 करोड़ रुपए दिए गए हैं।

Show More
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned