यूपी में मंदी से निपटने को स्टार्टअप फंड, ढेर सारे युवाओं को मिलेगा रोजगार और नौकरियां

'उत्तर प्रदेश स्टार्टअप फंड' का शुभारंभ
यूपी सरकार और सिडबी ने मिलाया हाथ
सिडबी बैंक को 15 करोड़ रुपए की पहली किश्त
सीएम योगी ने कहा कि हमारी नई स्टार्टअप नीति आ रही है
उत्तर प्रदेश देश में स्टार्ट-अप फंड स्थापित करने वाला पहला राज्य

By: Mahendra Pratap

Published: 21 May 2020, 11:48 AM IST

लखनऊ. कोरोना लगातार अपना मुंह सुरसा की तरह फैला रहा है। इस वक्त प्रदेश में 5220 कोरोना वायरस पाजिटिव पाए गए है। यूपी सरकार कोरोना से निपटने के कई उपाय कर रही है। लॉकडाउन के साठ दिन गुजर गए हैं। प्रदेश में युवा और बेरोजगार इस वक्त नौकरियों के लिए बैचेन है। युवाओं की मदद और कोरोना संकट से छायी मंदी को दूर करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने स्टार्टअप फंड की शुरुआत की है। यह फंड 1000 करोड़ रुपए का है। युवाओं को इस स्टार्टअप फंड से खासी मदद मिलेगी। जॉब की संभावनाएं बढ़ेगी। इस स्टार्टअप फंड के लिए प्रदेश सरकार और सिडबी के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर हुआ है।

अभी तक प्रदेश में केवल आईटी सेक्टर के लिए स्टार्टअप फंड की व्यवस्था थी। बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश स्टार्टअप फंड के लिए भारतीय लघु उद्यम बैंक (सिडबी) के साथ करार किया। साथ ही फंड की पहली किस्त के रूप में 15 करोड़ रुपए का चेक दिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश स्टार्ट-अप संस्कृति के लिए असीम संभावनाओं वाला राज्य है। यहां प्रत्येक सेक्टर जैसे कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा, आईटी, एमएसएमई आदि के लिए काम किए जाने की आवश्यकता है। इसके जरिए से बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जा सकता है। उत्तर प्रदेश देश में स्टार्ट-अप फंड स्थापित करने वाला पहला राज्य है।

यूपी में आ रहे हैं भारी संख्या में प्रवासी श्रमिक:- मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि इस समय बड़ी संख्या में प्रवासी कामगार और श्रमिक उत्तर प्रदेश में आ रहे हैं। हमें उनकी स्किल के अनुसार उन्हें रोजगार उपलब्ध कराना है। इससे न सिर्फ उनकी समस्याओं का समाधान होगा, बल्कि उनकी ऊर्जा और प्रतिभा का लाभ उत्तर प्रदेश के माध्यम से पूरे देश को भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारी नीयत नेक है, लेकिन नीयत के साथ-साथ निर्णय लेने की क्षमता को भी गति देनी होगी, तभी हम लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर पाएंगे।

युवाओं को प्रेरित करेंगे :- मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि हमारी नई स्टार्टअप नीति आ रही है। इस नई नीति के तहत हम अपने युवाओं को अपना स्टार्ट अप लगाने के लिए प्रेरित कर सकते हैं। एमएसएमई के लिए भारत सरकार ने जिस नए पैकेज की घोषणा की है, उसके तहत प्रदेश के एमएसएमई विभाग ने पहले कार्रवाई को आगे बढ़ाया है। जिसके तहत एक बड़ा ऑनलाइन लोन मेला आयोजित कर उद्यमियों को लोन देने की कार्यवाही को संपन्न किया जा चुका है।

स्टार्टअप संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा :- उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि निश्चित रूप से स्टार्टअप की स्थापना में गति आएगी और स्टार्टअप संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा। उत्तर प्रदेश के युवाओं के पास नए-नए आइडियास, विचार और कॉन्सेप्ट हैं, वर्तमान सरकार ने इस विषय पर ध्यान दिया है।

recession
Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned