यूपी के इन चार छोटे जिलों में मिलेंगी ढेर सारी नौकरियां और रोजगार

इन चार छोटे जिलों में 1583 करोड़ रुपए का निवेश करेंगी विदेशी कंपनियां

By: Mahendra Pratap

Published: 03 Apr 2021, 05:20 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. बस कुछ दिनों में यूपी के चार जिलों की किस्मत खुलने जा रही है। हरदोई, गोरखपुर, हमीरपुर और बाराबंकी में चार विदेशी कंपनियां 1583 करोड़ रुपए का निवेश करने वाली हैं। भेजे गए प्रस्ताव को सरकार की तरफ से हरी झंडी मिल गई है। इन चार जिलों में होने वाले निवेश से करीब 1564 लोगों को रोजगार मिलेगा। बाराबंकी में ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज, हमीरपुर में जेकेसेम सेंट्रल, हरदोई में बर्जर पेंट्स कंपनी और गोरखपुर में गैलेंट इंडस्ट्रीज अपने प्रोजेक्ट को मूर्त रूप देगी। इसके अतिरिक्त रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए अन्य जिलों में रेडीमेड वस्त्र बनाने वाली कंपनियां 940 करोड़ रुपए का निवेश कर रही हैं।

अगर आधार कार्ड-पैन कार्ड संग लिंक नहीं तो खैर नहीं, यूपी में एक अप्रैल से भरना होगा भारी जुर्माना

चार जिलों में मिलेगा रोजगार :- कोरोना की वजह से यूपी के डगमग अर्थव्यवस्था को पटरी पर लानेे के लिए यूपी की योगी सरकार लगातार काम कर रही है। सीएम योगी और उनकी टीम बाहर से निवेश लाकर यूपी के लिए रोजगार के अवसर पैदा कर रही है। औद्योगिक विकास विभाग के आंकड़ों के अनुसार, यूपी के चार पिछड़े जिलों में चार बड़ी कम्पनियां निवेश कर रहीं है। जिनमें ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज कंपनी बाराबंकी में 340 करोड़ रुपए का निवेश कर 31 जनवरी 2023 से अपना उत्पादन शुरू कर देगी। इस निवेश से करीब एक हजार लोगों को रोजगार मिल सकेगा। हमीरपुर में जेकेसेम सेंट्रल 28 मार्च 2022 तक उत्पादन शुरू करेगी। यह कम्पनी 381.22 करोड़ रुपए का निवेश कर रही है। जिससे 204 लोगों को रोजगार मिलेगा। बर्जर पेंट्स कंपनी हरदोई के संडीला में करीब 725 करोड़ रुपए का निवेश कर 150 लोगों को रोजगार देगी। वहीं गोरखपुर में गैलेंट इंडस्ट्रीज अगले साल एक अप्रैल से वाणिज्यिक उत्पादन शुरू करेगी। इसमें 134.74 करोड़ का निवेश होगा। इस परियोजना में 250 लोगों को रोजगार मिलेगा

कई जिले रेडीमेड वस्त्र के हब :- सूबे के कई जिले रेडीमेड वस्त्र के हब बनने जा रहे हैं। इनमें गोरखपुर, कानपुर, बुलंदशहर, गाजियाबाद, मेरठ, जालौन, बदायूं, अमरोहा, गाजियाबाद में रेडीमेड वस्त्र बनाने वाली कई कंपनियां फैक्ट्रियों लगाने के लिए आगे आयी हैं। रेडीमेड वस्त्र बनाने वाली ये कंपनियां 940 करोड़ रुपए का निवेश कर करीब 99 हजार युवाओं को रोजगार देने की व्यवस्था कर रहीं है।

यूनिट ही यूनिट लग रहीं हैं :- इस बारे में अधिकारियों ने बताया है कि, नोएडा में रेडीमेड गार्मेंट, गोरखपुर में सैनेटरी नैपकीन, कानपुर में फैब्रिक व पालीबैग और होजरी क्लाथ, बुलंदशहर में टैक्सटाइल, गाजियाबाद में वीविंग प्रोसेसिंग, मेरठ में धागा इकाई, जालौन में स्पिनिंग, बदायूं में लेस फैब्रिक्स, अमरोहा में गारर्मेंटिंग तथा गाजियाबाद में इनर गार्मेंट की लग टैक्सटाइल यूनिट लग रही है।

सात शहर में टेक्सटाइल पार्क की योजना, प्रस्ताव तैयार :- हथकरघा व वस्त्रोद्योग विभाग अधिकारियों के अनुसार, नए वित्तीय वर्ष के बजट में करीब 25 हजार लोगों को रोजगार दिलाने का लक्ष्य रखा गया है। सूबे में सात नए टेक्सटाइल पार्क और केंद्र सरकार के सहयोग से बनने वाले दो मेगा टेक्सटाइल पार्क के अलावा नोएडा का परिधान पार्क भी लाखों लोगों को रोजगार का मौका देंगे। इसके अलावा आगरा, मेरठ, वाराणसी, गोरखपुर, कानपुर, लखनऊ, झांसी शहरों में टेक्सटाइल पार्क बनाने की योजना तैयार हो गई है। इससे संबंधित प्रस्ताव को जल्द ही कैबिनेट में भेजा जाएगा।

Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned