यूपी में सिर्फ 27 फीसदी बच्चों के पास ही लैपटॉप या स्मार्टफोन, ऑनलाइन पढ़ाई कैसे प्रभावी : अखिलेश यादव

प्रदेश में आनलाइन पढ़ाई पर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से प्रश्न पूछते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्र्र्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सवाल किया कि, प्रदेश में सिर्फ 27 फीसदी बच्चों के पास ही लैपटॉप या स्मार्टफोन हैं।

By: Mahendra Pratap

Published: 23 Aug 2020, 04:46 PM IST

लखनऊ. प्रदेश में आनलाइन पढ़ाई पर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से प्रश्न पूछते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्र्र्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सवाल किया कि, प्रदेश में सिर्फ 27 फीसदी बच्चों के पास ही लैपटॉप या स्मार्टफोन हैं। वाई-फाई सुविधा नहीं है। ऐसे में ऑनलाइन पढ़ाई कैसे प्रभावी हो सकती है।

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था बदहाल है। शिक्षक, छात्र, अभिभावक परेशान हैं। भावी पीढ़ी को अंधकार के गर्त में धकेला जा रहा है। कोरोना संक्रमण के कारण मार्च से ही स्कूल-कॉलेज बंद हैं। स्कूली बच्चों को कोविड-19 से सबसे ज्यादा खतरा है। इसलिए शिक्षा विभाग के उच्च अधिकारियों ने ऑनलाइन शिक्षा देने का तरीका खोज निकाला है। यह व्यवस्था कंप्यूटर, लैपटॉप या स्मार्टफोन के बगैर चलने वाली नहीं है।

सपा सरकार ने भविष्य की संभावनाओं के मद्देनजर छात्र-छात्राओं को 18 लाख लैपटॉप बांटे थे। स्मार्टफोन देने का भी वादा था। भाजपा सरकार के आते ही यह योजना बंद कर दी गई। भाजपा वाले तब इनका मजाक उड़ाते थे, आज वही बुनियादी जरूरत बन गए हैं। सपा अध्यक्ष ने कहा, प्रदेश में बिजली की हालत दयनीय, नेट कनेक्शन है पर चाल सुस्त है। विद्यार्थियों के सामाजिक-आर्थिक स्तर में बहुत अंतर है, जिससे ऑनलाइन शिक्षा सबके लिए सुगम नहीं है। बहुत से शिक्षक भी ऑनलाइन शिक्षण में प्रशिक्षित नहीं हैं।

Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned