scriptLucknow world organ donation day UP only 500 organs donated Every year | World Organ Donation Day : यूपी में हर साल सिर्फ बमुश्किल होते हैं 500 अंगदान | Patrika News

World Organ Donation Day : यूपी में हर साल सिर्फ बमुश्किल होते हैं 500 अंगदान

- 13 अगस्त को विश्व अंग दान दिवस मनाया जाता है। इसका उद्देश्य अंग दान की जरुरत के बारे में लोगों को जागरुक करना है।

लखनऊ

Updated: August 13, 2021 05:34:14 pm

लखनऊ. अंगदान से तमाम लोगों की जान बचाई जा सकती है। पर यूपी में जागरूकता के अभाव में लोग अंगदान करना बहुत पसंद नहीं करते हैं। नेशनल ऑर्गन एंड टिशू ट्रांसप्लांट आर्गेनाईजेशन के आंकड़ों के अनुसार उत्तर प्रदेश में अंगदान की दर बहुत कम है। प्रदेश में प्रति वर्ष करीब 4000 मरीज़ों को प्रत्यारोपण के लिए गुर्दे की जरूरत होती है। करीब 8000 फेफड़े और 15 हजार लिवर के प्रत्यारोपण की आवश्यकता पड़ती है पर अंगदान प्रतिवर्ष सिर्फ 500 ही के हो पाते हैं। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण जागरूकता की कमी और अंधविश्वास है।
यूपी में हर साल सिर्फ बमुश्किल होते हैं 500 अंगदान
यूपी में हर साल सिर्फ बमुश्किल होते हैं 500 अंगदान
बीते 24 घंटों में पट्टी प्रतापगढ़ में सबसे अधिक बारिश, अगले 24 घंटों में भारी बारिश का मौसम अलर्ट

बच सकती हैं 8 जिंदगियां :- एक अंगदाता करीब 8 जिंदगियों को बचा सकता है। अंगदान में 8 अंग दान किए जाते हैं। मृत व्यक्ति की किडनी, लीवर, फेफड़ा, ह्रदय, पैंक्रियास और आंत दान में दिया जा सकता है। साल 2014 में इस सूची में हाथ और चेहरे को भी शामिल किया गया। कोई जिंदा व्यक्ति चाहे तो वह एक किडनी, एक फेफड़ा, लीवर का कुछ हिस्सा, पैंक्रियास और आंत का कुछ हिस्सा दान कर सकता है। गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोग अंगदान नहीं कर सकते हैं।
अंगदान और देहदान में अंतर :- अंगदान और देहदान में अंतर होता है। देहदान एनाटोमी पढ़ने के काम आता है, जबकि अंगदान किसी व्यक्ति को जीवनदान या उसके जीवन की गुणवत्ता में सुधर के लिए होता है। अंगदान दो तरीके से होता है लाइव डोनेशन और मृत्यु के बाद दान।
ऑनलाइन प्लेज फॉर्म भरना :- अंगदान के लिए ऑनलाइन प्लेज फॉर्म ऑनलाइन भर कर इस प्रक्रिया में शामिल हो सकते हैं। इसके लिए www.organindia.org पर अप्लाई किया जा सकता है। यहां रजिस्ट्रेशन के बाद एक डोनर कार्ड भेजा जाता है जिस पर यूनिक गवर्मेंट रजिस्ट्रेशन नंबर होता है। यह सभी प्लेज फॉर्म NOTTO में रजिस्टर किए जाते हैं।
अंगदान के लिए प्रेरित करना बड़ी चुनौती :- उत्तर प्रदेश सरकार में मेडिकल अफसर डॉ धर्मेंद्र शर्मा बताते हैं कि, अंगदान के कार्य में सबसे बड़ी चुनौती है लोगों को इसके प्रति प्रेरित करना। वर्ष 2009 से लखनऊ स्थित स्पर्श संस्था से जुड़े हैं जो लोगों को अंगदान के लिए शपथ दिलाती है और जागरूकता फैलाने का काम करती है। आज इनके साथ करीब 560 प्रतिनिधि जुड़े हैं जो अंगदान के प्रचार-प्रसार के कार्य में लगे हैं।
लोगों को जागरुक करना :- 13 अगस्त को विश्व अंग दान दिवस मनाया जाता है। इसका उद्देश्य अंग दान की जरुरत के बारे में लोगों को जागरुक करना है।

इनपुट :- महिमा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.