यस बैंक घोटाला: सीबीआई का लखनऊ समेत देश के 14 स्थानों पर छापा

Yes bank Fraud CBI Lucknow raid - कार्रवाई में आपत्तिजनक दस्तावेज व डिजिटल प्रमाण बरामद
- दो कंपनियों सहित छह पर केस दर्ज

By: Mahendra Pratap

Published: 10 Jun 2021, 11:39 AM IST

लखनऊ. Yes bank Fraud CBI Lucknow raid यस बैंक को 466.51 करोड़ रुपए का चूना लगाने वाली दो कंपनियों के खिलाफ केस दर्ज कर सीबीआई की 16 टीमों ने यूपी की राजधानी लखनऊ सहित अलग-अलग राज्यों में कुल 14 स्थानों पर छापेमारी की है। इस कार्रवाई में आपत्तिजनक दस्तावेज व डिजिटल प्रमाण बरामद किए गए हैं।

लखनऊ सहित आस-पास के कई जिलों में भारी बारिश, यूपी में तीन-चार दिन में मानसून आने का मौसम विभाग का अलर्ट

यस बैंक को 466.51 करोड़ का नुकसान :- मामला यह है कि, वर्ष 2017 से वर्ष 2019 के बीच दो साल में यस बैंक की अलग-अलग कई शाखाओं में करीब 466.51 करोड़ रुपए का घोटाला किया गया। आरोप है कि गुरुग्राम स्थित ओइस्टर बिल्डवेल प्रा. लि. व दिल्ली स्थित अवंथा रियल्टी लि. ने दिसंबर, 2017 में यस बैंक से 515 करोड़ रुपए का लोन लिया था। 30 अक्तूबर, 2019 को यह लोन एनपीए घोषित कर दिया गया। 6 मार्च, 2020 को दोनों कंपनियों के खाते संदिग्ध घोषित कर दिए गए। इस घपले में यस बैंक को 466.51 करोड़ का नुकसान हुआ।

रघुवीर शर्मा के लखनऊ आवास पर छापा :- सीबीआई के प्रवक्ता ने बताया कि, एफआईआर में दोनों कंपनियों, रघुवीर शर्मा, राजेंद्र मंगल, तापसी महाजन व गौतम थापर को नामजद किया गया है। सीबीआई की टीम घोटाला की परतें हटाने में जुटी हुई हैं। जांच एजेंसी ने रघुवीर शर्मा के लखनऊ के राजाजीपुरम स्थित आवास समेत दिल्ली, एनसीआर, सिकंदराबाद व कोलकाता में 14 स्थानों पर तलाशी ली। इस कार्रवाई में आपत्तिजनक दस्तावेज व डिजिटल प्रमाण बरामद किए गए हैं।

Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned