हरियाणा में बनेगा मदरसा ए खतीब ए अकबर :मौलाना असगर मेहदी 

कनाडा से लखनऊ आये मौलाना असगर मेहदी

By: Ritesh Singh

Published: 28 Aug 2016, 04:27 PM IST

लखनऊ,खतीब ए अकबर मौलाना मिर्जा मोहम्मद अतहर की याद में हरियाणा के करनाल इलाके में एक मदरसा कायम किया जायेगा। इस बात की घोषणा कनाडा में रहने वाले मौलाना असगर मेहदी ने की। वह खतीबे अकबर के छमाही की मजलिस में शिरकत करने के लखनऊ आये हुए हैं। उन्होंने बताया कि इस मदरसे का निर्माण हो चुका है और उस मदरसों का नाम खतीबे अकबर मिर्जा मोहम्मद अतहर के नाम से रखा जायेगा। इतना ही नहीं उन्होंने इस बात की भी घोषणा की है कि इस मदरसे को वक्फबोर्ड में दर्ज कराया जायेगा और उसके मुतवल्ली खतीबे अकबर के बेटे ही होंगे।

उन्होंने बताया कि खतीबे अकबर को नार्थ अमेरिका और यूरोप के नौ जवान बेहद पसंद करते थे और आज भी हर मौके पर खतीबे अकबर को याद किया जाता है। उनके निधन के बाद नार्थ अमेरिका और यूरोप के लगभग सभी अजाखानों में खतीबे अकबर के ईसाल ए सवाब के लिए मजलिसों का अयोजन किया गया और ताजियती जलसे हुए। उनके साल के फातिहा की मजलिस भी नार्थ अमेरिका के सभी अजाखानों में होगी। उन्होंने बताया कि सर्दियों में लखनऊ आकर वह खतीबे अकबर के नाम से एक विश्वव स्तरीय सेमीनार करायेंगे जिसमें कोशिश की जायेगी कि अधिक से अधिक देशों के बुद्बिजीवियों को शामिल किया जाये ।

विलायत के मसले पर कभी भी नहीं किया समझौता

मौलाना असगर मेहदी ने बताया कि खतीबे अकबर ने लगभग बीस वर्षों  तक नार्थ अमेरिका में अय्याम ए फातमियां में जाते हैं। उन्होंने कभी भी विलायत के मसले पर कभी भी समझौता नहीं किया है। खतीबे अकबर अपनी मजलिसों में हमेशा सरल भाषा का प्रयोग करते थे  जिससे मजलिस में मौजूद नौजवानों को समझ में आ सके। खतीबे अकबर ने यूरोप और नार्थ अमेरिका में जाकर मिम्बर बनवाए और वहां मजलिसों का अदब सिखाया।

फक्रे मिल्लत यासूब और एजाज के सर होगी जिम्मेदारी

मौलाना असगर मेहदी ने बताया कि यूरोप और नार्थ अमेरिका में मिर्जा मोहम्मद अतहर मजलिसों को खिताब करने जाते रहते थे । अब यूरोप में मौलाना यासूब और नार्थ इंडिया में खतीबे अकबर के बेटे एजाज मजलिसों को खिताब करने के जायेंगे।
Show More
Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned