लॉकडाउन के बीच 1 मई से हुए कई बदलाव, रेलवे से लेकर गैस सिलेंडर तक बदल गए ये नियम, आपकी जेब पर होगा असर

लॉकडाउन में एक मई और उसके बाद से कई चीजों में बदलाव किया गया है। एयर इंडिया टिकट, रेलवे, गैस सिलेंडर से जुड़े कई नियमों में बदलाव किया गया है

By: Karishma Lalwani

Published: 03 May 2020, 10:22 AM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने लॉकडाउन पर सख्ती से अमल करने के साथ ही पीड़ितों के इलाज और जरूरतमंदों के खाने पीने इंतजाम पर खास जोर दिया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर एक मई से खाद्यान्न वितरण का काम शुरू किया गया है। 3 मई के बाद औद्योगिक गतिविधियां शुरू करने के लिए कार्य योजना बनाई जा रही है। इसके साथ ही लॉकडाउन में एक मई (Changes made from 1st May)और उसके बाद से कई अन्य नियमों में भी बदलाव किया गया है। एयर इंडिया टिकट, रेलवे, गैस सिलेंडर से जुड़े कई नियमों में बदलाव किया गया है।

बैंक, रेलवे, पेंशन से जुड़े नियमों में बदलाव

एक मई से गैर सब्सिडी वाले घरेलू गैस सिलेंडर में 198 रुपये की बड़ी कमी की गई है। लखनऊ व आसपास के जिलों में 779 रुपये वाला घरेलू गैस सिलेंडर अब 581 में पड़ेगा। इसके साथ ही मासिक रेट रिवीजन में तेल कम्पनियों ने कामर्शियल सिलेंडर (19 किलो) के दामों में भी 256 रुपए की कटौती की है। कारोबारियों को अब कॉमर्शियल सिलेंडर के लिए 1113.50 रुपए चुकाने होंगे। वहीं पांच किलो वाले छोटू सिलेंडर पर 69.50 रुपए कम हुए हैं। 286.50 रुपए में मिल रहा छोटू सिलेंडर अब 217 रुपए का पड़ेगा

रेलवे ने किया बदलाव

कोरोना वायरस के कारण रेलवे ने कुछ नियम बदल दिए हैं। नए नियम के अनुसार, रिजर्वेशन चार्ट बनने के 4 घंटे पहले तक यात्री अपना बोर्डिंग स्टेशन बदल सकते हैं। मौजूदा नियम के मुताबिक पैसेंजर 24 घंटे पहले तक ही बोर्डिंग स्टेशन बदल सकते थे। हालांकि अगर पैसेंजर बोर्डिंग स्टेशन बदल देता है और यात्रा नहीं करता है और इसके बाद अगर वो टिकट कैंसल कराता है तो उसे कोई रिफंड नहीं मिलेगा। यह नियम प्रदेश के सभी रेलवे स्टेशनों के लिए लागू है।

टिकट कैंसिल करने पर नहीं कोई चार्ज

एयर इंडिया के नियमों में भी बदलाव किए गए है। एक मई से एयर इंडिया के पैसेंजर्स को टिकट कैंसिल कराने पर एक्स्ट्रा चार्ज देने की सुविधा बंद कर दी गई है। अब से बुकिंग के 24 घंटे के अंदर यात्री टिकट कैंसल कराता है या कोई और बदलाव करता है तो उसे कोई शुल्क नहीं देना होगा।

ये भी पढ़ें: प्रवासी मजदूरों को लेकर महाराष्ट्र और गुजरात से चली ट्रेन पहुंची लखनऊ, जानिए बाहर फँसे अपने कैसे लौट सकते हैं वतन

Show More
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned