मकर संक्रांति का स्नान शुरू, शुभ मुहूर्त में राशि के हिसाब से करें दान, बनेंगे बिगड़े काम

Hariom Dwivedi

Publish: Jan, 14 2018 08:54:10 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
मकर संक्रांति का स्नान शुरू, शुभ मुहूर्त में राशि के हिसाब से करें दान, बनेंगे बिगड़े काम

हिन्दू मान्यताओं के अनुसार, साल की 12 संक्रांत‌ियों में मकर संक्रांत‌ि का सबसे महत्व ज्यादा है। मकर संक्रांति के द‌िन सूर्य देव मकर राश‌ि में आते हैं।

लखनऊ. मकर संक्रांति का पर्व आज देशभर में धूमधाम से मनाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश में स्नान और दान-पुण्य के लिए सुबह से सुबह से ही गंगा, गोमती और सरयू नदी के तट पर श्रद्धालुओं का तांता लगा है। इसके अलावा नैमिषारण्य, मिश्रिख और हत्याहरण तीर्थ जैसे पवित्र स्थानों पर कड़ाके की ठंड के बावूजद भक्तों ने स्नान शुरू कर दिया है। मंकर संक्रांति इस बार दो दिन (14 जनवरी और 15 जनवरी) मनाई जा रही है।

लखनऊ दुबग्गा के फेमस वरदानी हनुमान मंदिर के पुजारी पंडित अमलकांत शास्त्री बताते हैं कि आज देश में भर में मकर संक्रांति का त्यौहार मनाया जा रहा है। लेकिन इस बार मकर संक्रांति दो दिन मनाई जा रही है। आज यानी 14 जनवरी की मकर संक्रांति साधु-सन्यासियों के लिये है। आज का दिन दान-पुण्य का दिन है। कल यानी 15 जनवरी को गृहस्थ खिचड़ी का त्यौहार मनाएंगे।

रविवार सुबह से लखनऊ में गोमती नदी, फर्रूखाबाद और कानपुर में गंगा नदी, अयोध्या में सरयू नदी के तट पर श्रद्धालुओं का तांता लगा है। लोग नदी और पवित्र तीर्थ स्थानों में स्नान कर दान-पुण्य कर रहे हैं। पंडित अमलकांत शास्त्री बताते हैं कि अगर आप किसी नदी या तीर्थस्थान पर नहीं जा सकते तो घर में ही साफ पानी से स्नान करें। स्नान के समय जब पानी सिर पर डालें तो 'हर-हर गंगे' मंत्र का उच्चारण करें।

इसलिये मनाते हैं मकर संक्रांति
हिन्दू मान्यताओं के अनुसार, साल की 12 संक्रांत‌ियों में मकर संक्रांत‌ि का सबसे महत्व ज्यादा है। मकर संक्रांति के द‌िन सूर्य देव मकर राश‌ि में आते हैं। मकर संक्रांति से ही अच्छे दिन (देवताओं के दिन) शुरू हो जाते हैं, जो देवशयनी एकादशी से सुप्त हो जाते हैं। मकर संक्रांति को खिचड़ी के नाम से भी जाना जाता है। मकर संक्रांति को पश्चिम बंगाल में इसे पौष संक्रांति, तमिलनाडु में पोंगल, असम में बिहू और गुजरात में उत्तरायण के नाम से जाना जाता है।

मकर संक्रांति का शुभ मुहूर्त
मकर संक्रांति : 14 जनवरी 2018
मुहूर्त की अवधि : 3 घंटा 41 मिनट
पुण्य काल : रात 02:00 बजे से सुबह 05:41 तक
संक्रांति समय : रात 02:00 बजे
महापुण्य काल मुहूर्त : 02:00 बजे से 02:24 तक
मुहूर्त की अवधि : 23 मिनट

क्या करें दान
मकर संक्रांति पर दान का विशेष महत्व है। इस दिन तिल, खिचड़ी, गुड़, कंबल और घी के दान का महत्व है। लेकिन अगर यह दान राशि के हिसाब से किया जाये तो विशेष फल देने वाला होता है।
- मेष राशि वाले गुड़, मूंगफली दाने और तिल का दान करें
- वृषभ राशि वाले सफेद कपड़ा, दही और तिल का दान करें
- मिथुन राशि वाले मूंग दाल, चावल और कंबल का दान करें
- कर्क राशि वाले चावल, चांदी और सफेद तिल का दान करें
- सिंह राशि वाले तांबा, गेहूं और सोने के मोती का दान करें
- कन्या राशि वाले खिचड़ी, कंबल और हरे कपड़े का दान करें
- तुला राशि वाले सफेद डायमंड, शकर और कंबल का दान करें
- वृश्चिक राशि वाले मूंगा, लाल कपड़ा और तिल का दान करें
- धनु राशि वाले पीला कपड़ा, खड़ी हल्दी और सोने का मोती दान करें
- मकर राशि वाले काला कंबल, तेल और काली तिल दान करें
- कुंभ राशि वाले काला कपड़ा, काली उड़द, खिचड़ी और तिल दान करें
- मीन राशि वाले रेशमी कपड़ा, चने की दाल, चावल और तिल दान करें

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned