थोड़ा रुपया आप लगाएं और 10 साल बाद खुद पाएं मुफ्त बिजली

Anil Ankur

Publish: Jan, 14 2018 11:12:40 AM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
थोड़ा रुपया आप लगाएं और 10 साल बाद खुद पाएं मुफ्त बिजली

सरकार की नेडा संस्था करेगी मदद

लखनऊ। सरकार की एक ऐसी योजना कि खूब घर रोशन कीजिए और बचाइए पैसा। सौर ऊर्जा के जरिए बिजली के उपयोग से आज जो खर्च करेंगे, उसके बदले दस साल बाद आपको मुफ्त बिजली मिलेगी। इसका लाभ बड़े स्तर पर लोगों ने लेना शुरू कर दिया है।

एक किलोवाट का खर्चा है सिर्फ 52,500 रुपये
क्या है रेशियो-
दो किलो वाट वाले उपभोगताओं के लिए सूचनार्थ

औसतन सरकारी बिजली खर्च 300 यूनिट 750 यूनिट

बिजली का बिल 1400 रुपये 4000 रुपये

सोलर उर्फ सौरऊर्जा से बिजली उत्पादन 270 यूनिट 675 यूनिट

देय बिल यूनिट में 30 यूनिट 75 यूनिट

कुल देय बिल 400 रुपये 1100 रुपये

सौर ऊर्जा प्लांट लगवाने के लिए यहां करें संपर्क - 0522- 2720652

सौर ऊर्जा के लिए क्या है सरकारी योजना
सौर ऊर्जा प्लांट को बढ़ावा देने के लिए सरकार 30त्न सब्सिडी देती है। सरकारी मानक के हिसाब से प्रतिकिलो वॉट 75 हजार रुपये का खर्च है। 30त्न सब्सिडी के बाद यह 52,500 रुपये का पड़ता है। ऐसे में एक किलोवॉट वाला उपभोक्ता दस से 11 साल में न सिर्फ लागत निकाल लेता है। अगले 10 साल तक मुफ्त की बिजली इस्तेमाल करता है। पांच साल व सोलर पैनल पर 20 साल की गारंटी भी देता है।

लेसा के अभियंताओं की माने तो सौर ऊर्जा प्लांट के जरिए प्रति किलोवॉट चार से साढ़े चार यूनिट प्रतिदिन तक बिजली पैदा होती है। विभागीय मानकों के हिसाब से एक किलोवॉट का कनेक्शन लेने वाला उपभोक्ता महीने में करीब 150 यूनिट बिजली इस्तेमाल करता है। करीब100 यूनिट तक 3 रुपये/यूनिट और 100-150 यूनिट तक 3.50 रुपये/यूनिट के हिसाब से बिल देना पड़ता है। 80 रुपये प्रति किलोवॉट फिक्स चार्ज और बाकी चार्ज मिलाकर 570 रुपये प्रति माह चुकाने होते हैं। 4.5 यूनिट प्रति दिन के हिसाब से जोड़ें तो एक किलोवॉट का प्लांट 135 यूनिट बिजली हर महीने बनाएगा।
इस तरीके से देखा जाए तो बिजली उपभोक्ताओं को प्रति महीने सवा चार सौ रुपए की बचत होगी और इस तरह सालाना बचत का रेशियो पांच हजार रुपए के करीब हो जाएगा।

Ad Block is Banned