scriptManoj Kumar Rai Mission Shakti-4 mission fixed goals of 5 years CFAR | मिशन शक्ति-4 अभियान के पांच वर्ष के लक्ष्य तय : मनोज कुमार राय | Patrika News

मिशन शक्ति-4 अभियान के पांच वर्ष के लक्ष्य तय : मनोज कुमार राय

मिशन शक्ति 4 के सफल संचालन के लिए सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफार) संस्था के सहयोग से एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें महिला एवं बाल विकास विभाग, यूपी निदेशक मनोज कुमार राय, महिला एवं बाल विकास विभाग यूपी उप निदेशक पुनीत कुमार, बाल अधिकार संरक्षण आयोग, यूपी अध्यक्ष डॉ. देवेन्द्र शर्मा, सीफार की नेशनल प्रोजेक्ट लीड रंजना द्विवेदी शामिल हुईं। जानें में बैठक में क्या कार्ययोजना बनाई गई। आपके काम की हैं बातें।

 

लखनऊ

Published: April 26, 2022 11:49:15 am

मिशन शक्ति 4 के सफल संचालन के लिए सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफार) संस्था के सहयोग से आयोजित राज्यस्तरीय ‘जागरूक मीडिया’ कार्यशाला में महिला एवं बाल विकास विभाग, उत्तर प्रदेश निदेशक मनोज कुमार राय ने कहाकि, महिलाओं एवं बच्चों के विकास से ही बेहतर राष्ट्र के विकास का सपना साकार हो सकता है। सिर्फ कार्ययोजना बनाने से नहीं बल्कि संवेदनशील होकर कार्ययोजना पर अमल करने की आवश्यकता है। योजनाओं को धरातल पर उतारने में मिशन शक्ति अभियान बहुत ही सफ़ल साबित हुआ है। हमारा प्रयास है कि समाज के अंतिम पायदान पर खड़ी महिला और बच्चों तक हरसंभव मदद पहुंच सके। महिलाओं तथा बच्चों की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलंबन के उद्देश्य से मिशन शक्ति-4 अभियान शुरू किया गया है। इसके लिए 100 दिन, छह माह, दो वर्ष और पांच वर्ष के लक्ष्य भी तय किए गए हैं।
मिशन शक्ति-4 अभियान के पांच वर्ष के लक्ष्य तय : मनोज कुमार राय
मिशन शक्ति-4 अभियान के पांच वर्ष के लक्ष्य तय : मनोज कुमार राय
महिलाओं के लिए कई योजनाएं - विमला बाथम

राज्य महिला आयोग, उत्तर प्रदेश अध्यक्ष विमला बाथम ने कहाकि, सूबे की महिलाओं और बालिकाओं के सपनों को पंख देने का काम सरकार की चलाई जा रहीं विभिन्न योजनाएं कर रहीं हैं। बेटियों की पढाई, स्वास्थ्य और सुरक्षा का ध्यान रखते हुए जहाँ मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जैसी योजनाएं चलायी जा रहीं हैं। वहीं महिलाओं के लिए निराश्रित महिला पेंशन योजना और वन स्टाप सेंटर भी संचालित हो रहे हैं। इसके साथ ही किसी भी मुसीबत में घर बैठे हेल्पलाइन के जरिये तत्काल राहत पहुंचाने का भी काम चल रहा है।
यह भी पढ़ें

आरबीआई की नई सुविधा, क्रेडिट कार्ड-डेबिट कार्ड से जुड़े नियमों में बदलाव, देरी पर उपभोक्ता को मिलेंगे 500 रुपए

मिशन शक्ति अभियान से योजनओं का प्रचार

विमला बाथम ने बताया कि, मिशन शक्ति अभियान के जरिये अब इन योजनाओं का प्रचार-प्रसार भी तेजी से हो रहा है, जिससे ज्यादा से ज्यादा महिलाएं और बालिकाएं इन योजनाओं का लाभ उठा सकें। प्रदेश में 11.57 लाख कन्याओं को मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत लाभ दिया जा रहा है। पति की मृत्यु के बाद निराश्रित लगभग 31 लाख महिलाओं को पेंशन योजना के तहत 1000 रुपए प्रति माह की दर से चार तिमाही में भुगतान किया जा रहा है।
यह भी पढ़ें

घर-घर जाकर गाय और बछिया गिनेंगे पंचायत सहायक

बच्चों की मदद का हरसंभव प्रयास : डॉ. देवेन्द्र शर्मा

बाल अधिकार संरक्षण आयोग, उत्तर प्रदेश अध्यक्ष डॉ. देवेन्द्र शर्मा ने बताया कि, बाल मन में अंकित छवि उनके जीवन में बहुत गहरा प्रभाव डालती हैं, इसीलिए बच्चों के लिए हिंसा व शोषण मुक्त माहौल बनाने में सभी की भागीदारी बहुत जरूरी है। सरकार भी इसके लिए निरंतर प्रयास कर रही है। कोविड के चलते अनाथ हुए बच्चों की मदद के लिए संचालित मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत मिलने वाली मदद से अपनों के खोने के गम को तो दूर नहीं किया जा सकता लेकिन बच्चों के बेहतर भविष्य निर्माण के लिए यह एक अच्छी पहल जरूर साबित हो रही है। योजना ने बच्चों में यह भाव जरूर जगाया हैं कि इस वैश्विक महामारी में हम अकेले नहीं है। अब तक बाल सेवा योजना और बाल सेवा योजना सामान्य के जरिए 16 हजार से अधिक बच्चों को लाभ पहुंचाया गया है। इसी के साथ चाइल्ड लाइन, वन स्टॉप सेंटर के जरिए बच्चों की मदद के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं।
मिशन शक्ति-4 अभियान के पांच वर्ष के लक्ष्य तय : मनोज कुमार राय100 दिन का लक्ष्य तय - पुनीत कुमार

महिला एवं बाल विकास विभाग, उत्तर प्रदेश उप निदेशक पुनीत कुमार ने बताया कि, अभियान के जरिए सभी योजनाओं का लाभ समय से पात्र लाभार्थियों को मिले, इसके लिए विभाग ने 100 दिन से लेकर आगामी पांच वर्षों तक का लक्ष्य निर्धारित किया है। 100 दिवसीय कार्ययोजना के तहत हर 15 दिन में प्रदेशभर में स्वालंबन शिविर का आयोजन किया जाएगा। जिसमें मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, वन स्टॉप सेंटर, महिला हेल्प लाइन, बालिका सुरक्षा जागरूकता अभियान, बाल संरक्षण सेवाएं और निराश्रित महिला योजना के बारे में विभिन्न तरीके से जागरूक किया जाएगा। इसी तरह योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन, रिक्त पदों की भर्ती, निर्माणाधीन इमारतों को पूरा करना आदि लक्ष्यों की पूर्ति के लिए अलग-अलग समय सीमा तय की गई है।
मीडिया की अहम भूमिका

कार्यक्रम में सीफार की नेशनल प्रोजेक्ट लीड रंजना द्विवेदी ने कहाकि, योजनाओं को सही मायने में धरातल पर उतारने में मीडिया की अहम भूमिका है। महिला कल्याण की जो भी योजनाएं चल रहीं हैं उनको जन-जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से आज की यह कार्यशाला आयोजित की गई है। कार्यशाला में मीडिया के सवालों का निदेशक ने जवाब दिया।
कार्यशाला में सभी मौजूद

कार्यशाला में बाल संरक्षण आयोग सदस्य श्याम त्रिपाठी, अनीता अग्रवाल, लखनऊ मण्डल के डेप्यूटी सीपीओ सर्वेश पांडे, मण्डल के समस्त जिला प्रोबेशन अधिकारी सहित महिला कल्याण विभाग के राज्य सलाहकार नीरज मिश्र और प्रीतेश, सीफ़ार के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: फ्लोर टेस्ट के खिलाफ शिवसेना की अर्जी सुप्रीम कोर्ट में मंजूर, आज शाम 5 बजे होगी सुनवाईMaharashtra Political Crisis: 30 जून को फ्लोर टेस्ट के लिए मुंबई वापस पहुंचेगा शिंदे गुट, आज किए कामाख्या देवी के दर्शनMumbai News Live Updates: फ्लोर टेस्ट के खिलाफ शिवसेना की अर्जी सुप्रीम कोर्ट में मंजूर, आज ही होगी सुनवाईनवीन जिंदल को भी कन्हैया लाल की तरह जान से मारने की मिली धमकी, दिल्ली पुलिस से की शिकायतउदयपुर हत्याकांड को लेकर बोले मुख्यमंत्री: कहा- 'हर पहलू को ध्यान में रखकर होगी जांच, कहीं कोई अंतरराष्ट्रीय लिंक तो नहीं'Udaipur Murder Case: राजस्थान में एक माह तक धारा 144, पूरे उदयपुर में कर्फ्यू, जानिए अब तक की 10 बड़ी बातेंMohammed Zubair’s arrest: 'पत्रकारों को अभिव्यक्ति के लिए जेल भेजना गलत', ज़ुबैर की गिरफ्तारी पर बोले UN के प्रवक्ता1 जुलाई से बैन: अमूल, मदर डेयरी को नहीं मिली राहत, आपके घर से भी गायब होंगे ये समान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.