अपराधियों में नहीं कानून का खौफ, कम नहीं हो रहे दरिंदगी के मामले, उन्नाव-हैदराबाद के बाद यहां भी हुआ वैसा ही मामला

- पिछले एक महीने में हुई कई दरिंदगी की घटनाएं

- एक या दो नहीं बल्कि कई झकझोर देने वाली घटनाएं सामने आईं

- अपराधियों में कानून का नहीं कोई खौफ

लखनऊ. दिल्ली में हुए निर्भया कांड ने पूरे देश को झकझोर दिया था। तमाम सख्त कानून बनाए जाने की भी बातें हुईं। लेकिन घटना के इतने सालों बाद भी लड़कों की लड़कियों के प्रति ओछी मानसिकता का वार आज भी बरकरार है। इसका ताजा उदाहरण हैदराबाद में महिला पशु चिकित्सक के साथ हुई दरिंदगी (Hyderabad Case) है। इस घटना के बाद पूरे देश के लोगों में रोष दिखा। यह मामला अभी उजागर ही हुआ था कि उन्नाव में दुष्कर्म (Unnao Case) का शिकार हुई एक और बेटी को आग के हवाले कर दिया गया। इसके बाद बांदा में भी रेप का एक और मामला शुक्रवार को सामने आया। कहने को तो देश में 112 और 1090 जैसे हेल्पलाइन है। लेकिन पिछले दिनों हुई इन दो बड़े मामलों के बाद जब यूपी में पिछले एक महीने में हुई रेप की घटनाओं को खंगाला गया, तो एक या दो नहीं बल्कि कई ऐसी झकझोर देने वाली घटनाएं सामने आईं।

पिछले दिनों उन्नाव रेप पीड़िता द्वारा मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्मदाह करने के मामले ने तूल पकड़ा को सीबीआई जांच हुई। इसमें विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर पीड़िता से दुष्कर्म करने व उनके भाई अतुल पर पीड़िता के पिता की पिटाई और न्याययिक हिरासत में मौत का मामला सुर्खियों में रहा। आरोपी सेंगर को 13 अप्रैल, 2018 को गिरफ्तार कर लिया गया।

बांदा में एक और मामला

गुरुवार को उन्नाव मे ही एक दूसरी गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जलाने के प्रयास ने महिला सुरक्षा की बात करने वाली यूपी पुलिस के सख्त कानून पर सवाल खड़े कर दिए। शुक्रवार को बांदा में भी रेप का मामला उजागर हुआ जहां पीड़िता ने गांव के ही एक युवक पर घर में घुसकर मारपीट और दुष्कर्म का आरोप लगाया। युवती का आरोप है कि विगत कई दिनों से पुलिस के चक्कर लगाने के बावजूद भी अभी आज तक रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई।

इन सभी घटनाओं ने सवाल खड़ा किया है कि आखिर वुमन सेफ्टी कहां है? महिला हेल्पलाइन 1090 के आंकड़े बताते हैं कि सोशल मीडिया पर छेड़छाड़ के मामले पिछले दो साल में सात गुना बढ़ गए हैं। वहीं अगर यूपी में अन्य जिलों की बात करें तो उन्नाव और बांदा के अलावा नौ अन्य जिलों के नाम सामने आए।

यूपी का हाल

कानपुर

कानपुर के बिठुर क्षेत्र की सोसाइटी में कक्षा नौ की छात्रा के साथ आईटीआई छात्र ने दुष्कर्म किया। गुरुवार को आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई।

अंबेडकरनगर

अंबेडकरनगर जलालपुर थाना क्षेत्र में नाबालिग लड़की के साथ दुराचार का मामला प्रकाश में आया। गुरुवार को पीड़िता के पिता की तहरीर पर तीन आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।

मुरादाबाद

मुरादाबाद में तमंचे के बल पर युवती से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया। इस मामले में दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।

गाजियाबाद

इसी तरह गाजियाबाद में युवती के साथ चार युवकों ने गैंगरेप किया।

गौतमबुद्धनगर

गौतमबुद्धनर में 30 नवंबर को युवती को अगवा कर मुंबई ले जाकर गैंगरेप का मामला प्रकाश में आया।

रायबरेली

रायबरेली में एक महिला के साथ बंदूक की नोक पर सामूहिक दुष्कर्म हुआ। केस दर्ज होने के बाद भी आरोपी गिरफ्तार नहीं हुए। इसी साल चार दिसंबर को महिला अपने बच्चे व पति के साथ रायबरेली से पैदल चलकर लखनऊ पहुंची और योगी सरकार से कार्रवाई की मांग की। यह भी कहा- यदि कार्रवाई नहीं कर सकते तो इच्छामृत्यु दी जाए।

झांसी

झांसी में बीते आठ नंवबर को तीन साल की मासूम का शव मिला था। आरोप है कि परिचित ने ही मासूम को शराब के नशे में उठाकर गैंगरेप किया।

मिर्जापुर

मिर्जापुर में बीते सोमवार को थाना इलाके में हाईस्कूल की छात्रा को अगवा कर उसके साथ गैंगरेप किया गया। घटना में सभी आरोपियों में एस एक जेलर का बेटा निकला।

संभल

संभल में 21 नवंबर को किशोरी के साथ पड़ोसी ने रेप कर जिंदा जला दिया। नौ दिनों तक इलाज के बाद पीड़िता ने दम तोड़ दिया। मामले में आरोपी युवक को गिरफ्तार कर पुलिस उसपर रासुका की कार्रवाई चुकी है।

ये भी पढ़ें: दुष्कर्म पीड़िताओं के घर जाएगी यूपी पुलिस, मिलेगी तत्काल सुरक्षा

Show More
Karishma Lalwani
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned