पुराने फॉर्मूले पर लौटीं मायावती, दो दर्जन नेताओं को दी नई जिम्मेदारी

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती यूपी की सत्ता में वापसी के लिए फिर से पुराने फॉर्मूले पर लौट आई हैं

लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती यूपी की सत्ता में वापसी के लिए फिर से पुराने फॉर्मूले पर लौट आई हैं। लखनऊ स्थित प्रदेश कार्यालय पर आयोजित हुई राज्य इकाई की बैठक में मायावती ने संगठन की तत्कालिक व्यवस्था को खत्म कर फिर से पुरानी व्यवस्था के तहत पदाधिकारियों को नियुक्त किया है। मायावती पूरे उत्तर प्रदेश को 18 मंडलों और नौ सेक्टरों बांटा है। दो मंडलों का एक सेक्टर बनाया गया है। हर मंडल का प्रभारी सेक्टर प्रभारी को रिपोर्ट को करेगा और सेक्टर प्रभारी आलाकमान तक अपडेट पहुंचाएगा। सेक्टर पुनर्गठन के बाद बड़ी संख्या में नए लोगों को सेक्टर प्रभारी के रूप में शामिल किया गया है। गौरतलब है कि इससे पहले मायावती ने पूरे यूपी को चार सेक्टरों में बांटकर पदाधिकारी नियुक्त किये थे।

नए सेक्टर- प्रभारी व सह प्रभारी
लखनऊ-कानपुर: भीमराव अम्बेडकर, अशोक कुमार गौतम, चिंतामणि
फैजाबाद-देवीपाटन: मुनकाद अली, दिनेश चंद्रा, जितेंद्र कुमार गौतम
गोरखपुर-बस्ती: पूर्व सांसद धनश्याम चंद्र खरवार, सुधीर कुमार भारती, सुरेश कुमार गौतम, डॉ. बलराम
प्रयागराज-मिर्जापुर: मुनकाद अली, आरएस कुशवाहा, लालबहादुर रत्नाकर
वाराणसी-आजमगढ़: पूर्व सांसद धनश्याम चंद्र खरवार, रामचंद्र गौतम, डॉ. मदन राम, इंदल राम
आगरा-अलीगढ़: नौशाद अली, राजकुमार गौतम, सूरज सिंह
मुरादाबाद-बरेली: सांसद गिरीश चंद्र जाटव, पूजन प्रसाद
चित्रकूट-झांसी: आरएस कुशवाहा, लालाराम अहिरवार, भूपेंद्र आर्य
सहारनपुर-मेरठ: डॉ. कमल, सतपाल पिपला

यह भी पढ़ें : बसपा की बैठक में बोलीं मायावती- बहुत हुई बयानबाजी, अब असल मुद्दों पर काम करे बीजेपी सरकार

Hariom Dwivedi
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned