मायावती ने डिंपल को तो नहीं, लेकिन अखिलेश ने बसपा सुप्रीमो को जरूर दी जन्मदिन की बधाई

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती व सपा की पूर्व सांसद डिंपल यादव का आज जन्मदिन है। दोनों अलग-अलग दलों से हैं, लेकिन राजनीतिक जरूरत कहें या मजबूरी वह बीते वर्ष एक साथ भी आए।

लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती व सपा की पूर्व सांसद डिंपल यादव का आज जन्मदिन है। दोनों अलग-अलग दलों से हैं, लेकिन राजनीतिक जरूरत कहें या मजबूरी वह बीते वर्ष एक साथ भी आए। लेकिन आज दोबारा पहले जैसे हालात हो गए हैं। न मायावती ने डिंपल को बधाई दी और न ही मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू ने उन्हें शुभकामनाएं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस बीच जरूर बसपा सुप्रीमो को ट्वीट कर बधाई दी।

ये भी पढ़ें- पत्नी डिंपल को लेकर अखिलेश यादव के आरोपों पर भाजपा ने किया पलटवार, सांसद ने कहा- गलत साबित हुआ तो छोड़ दूंगा राजनीति

गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में सपा और बसपा ने एक दूसरे का साथ दिया और भाजपा को पटखनी दी, तभी से दोनों के बीच 2019 चुनाव को लेकर करीबियां बढ़ने लगी थी। जो बुआ और भतीजे एक दूसरे पर हमलावर थे, वह एक दूसरे में रिश्ते तलाशने लगे। कन्नौज की एक रैली में डिंपल यादव ने सभी के सामने मायवाती के पैर छुए, तो मायवाती भी बहू कह कर उन्हें आशीर्वाद देने से पीछे नहीं हटीं। बीते वर्ष मायावती के जन्मदिन के सियासी महत्व के कारण अखिलेश यादव की पत्नी के जन्मदिन की कम ही चर्चा हुई। डिंपल ने अपना जन्मदिन सादगी के साथ मनाया। हालांकि, इस मौके पर मायावती ने उन्हें केक व फूल भिजवाकर बधाई दी। लेकिन उसके एक साल के भीतर सब कुछ बदल गया। 2019 के लोकसभा चुनाव में गठबंधन के फेल होने के बाद चुनावी जरूरतें खत्म हुईं, तो रिश्ते भी समाप्त हो गए। आज मायावती की ओर से डिंपल को केक तो नहीं भेजा गया, लेकिन अखिलेश यादव की ओर से नपे तुले शब्दों में बुआ के लिए बधाई जरूरी दी गई।

ये भी पढ़ें- कॉमनवेल्थ पार्लियामेंट्री सम्मेलन के लिए लखनऊ आए ओम बिरला, विधानसभा अध्यक्ष ने दिया बड़ा बयान

Abhishek Gupta Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned