आजमगढ़ रैली के बाद BJP का पलटवार, कहा- डिप्रेशन में हैं माया

  आजमगढ़ रैली के बाद BJP का पलटवार, कहा- डिप्रेशन में हैं माया
maywati

मायावती के द्वारा लगाये गए आरोपों का बीजेपी ने कुछ यूं दिया जवाब

लखनऊ. समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह के गढ़ आजमगढ़ से रविवार को बीएसपी अध्यक्ष मायावाती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी पर जमकर हमला बोला था। हालांकि मायावती प्रदेश की अखिलेश सरकार अौर क्रांगेस पर भी बरसी थी। इसी का जवाब देते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव श्रीकांत शर्मा ने मातावती पर पलटवार किया है। कहा हैं कि अपनी पार्टी के सक्षम और ईमानदार नेताअों का दूसरी पार्टियों में छोड़कर जाने से मायावती डिप्रेशन में हैं, इसी के चलते वे इस तरह दूसरी पार्टियों पर बरस रही है। बता दें कि अपनी आजमगढ़ की रैली में उन्होंने मोदी पर निशाना साधते हुए माया ने पीएम मोदी के स्वतंत्रता दिवस भाषण में पीओके और बलूचिस्तान का मुद्दा उठाने को यूपी चुनाव से जोड़ा और कहा कि पीएम ने ऐसा दरअसल यूपी चुनाव के मद्देनजर किया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार यूपी में चुनाव जीतने के लिए पाकिस्तान से युद्ध तक करवा सकती है।


इसी के चलते बीजेपी ने उनके बातों का जवाब दिया। श्रीकांत शर्मा ने कहा कि मायावती बीजेपी की लोकप्रियता से डर गई है। उन्होंने मायावती के करीबी सहयोगी नसीमुद्दीन सिद्दिकी के विवादास्पद टिप्पणी का भी जिक्र किया जो बीजेपी से निकाले गए नेता दयाशंकर सिंह की पत्नी और बेटी को लक्षित थे।

मोदी पर भी लगाए था ये गम्भीर आरोप


mayawati

मायावती ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार ने अपने वादे पूरे नहीं किए हैं। मोदी सरकार पर प्रश्न करते हुए पूछा कि क्या किसानों की आय दोगुनी हुई है? क्या यहां के कारखाने शुरू हुए हो गए हैं। गोरखपुर में बंद पड़े कारखाने मोदी सरकार अब याद आए, जब चुनाव में सिर्फ कुछ महीने बाकी है। मायावती ने कहा कि मोदी सरकार ने अपने वादे पूरे नहीं किए हैं। इन्होंने अपने वायदों के मुताबिक दस प्रतिशत भी काम नहीं किए हैं।

बसपा सुप्रीमो ने पीएम नरेंद्र मोदी पर धन्नासेठों के लिए काम करने के लिए आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि केंद्र में बैठी मोदी सरकार आसानी से पूंजीपतियों के कर्ज माफ कर देती है। दूसरी ओर छोटे किसानों को इतना परेशान किया जाता है कि वे आत्महत्या करने को मजबूर हो जाते हैं। इसके लिए मायावती ने कांग्रेस के साथ बीजेपी को भी जिम्मेदार ठहराया। बसपा सुप्रीमो ने केंद्र सरकार पर आरएसएस के एजेंडे पर चलने का आरोप लगाया। 

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने अपने महत्वपूर्ण मंत्रालयों के काम को पाइवेट कंपनियों को दे दिया है। इससे दलितों और पिछड़ों को आरक्षण का लाभ नहीं मिल पाएगा।रोहित वेमुला और ऊना दलित कांड का जिक्र करते हुए मायावती ने कहा कि दलितों का उत्पीड़न लगातार बढ़ता जा रहा है। कमजोर वर्गों के लोग नरेंद्र मोदी से सहानुभूति और वादे नहीं चाहते हैं। बल्कि सम्मान और बराबरी चाहते हैं, जोकि 70 बरसों से भी नहीं मिली हैं।

BSP के रिजेक्टेड माल को वफादारी का पट्टा पहनाते हैं अमित शाह

मायावती ने आज आजमगढ़ में अपनी महारैली में अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि  मायावती ने कहा कि BSP के रिजेक्टेड माल को वफादारी का पट्टा पहनाते हैं बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह। इस रैली के दौरान उन्होंने कि दो साल में केंद्र सरकार ने आखिर किया क्या है? दो साल में पूर्वांचल के लोगों का भला हुआ क्या? क्या आज गरीबों को सस्ता अनाज मिल रहा है? उन्होंने कहा कि बिजली पानी और स्वास्थ्य सेवाओं के वादे झूठे निकले। उन्होंने कहा कि यूपी में बीजेपी और सपा की मिलीभगत है। यदि कांग्रेस सत्ता से बाहर है तो इसलिए क्योंकि उसकी नीतियां ग़लत रहीं।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned