पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर मायावती ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा - गरीब की हो रही अनदेखी

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर मायावती ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा - गरीब की हो रही अनदेखी
Mayawati

Abhishek Gupta | Publish: Jun, 19 2018 04:09:15 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

देश में बढ़ रही पेट्रोल और डीजल की कीमतों को लेकर बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने केंद्र सरकार पर जोरदार हमला बोला है।

लखनऊ. देश में बढ़ रही पेट्रोल और डीजल की कीमतों को लेकर बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने केंद्र सरकार पर जोरदार हमला बोला है। मायावती ने मंगलवार को जारी बयान में कहा है कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार देश की गरीब जनता, किसानों, मजदूरों की अनेदखी कर पेट्रोल-डीजल पर शुल्क नहीं घटाने की जनविरोधी नीति पर चल रही है। केंद्र सरकार को केवल अपना खजाना व धन्नासेठों की तिजोरी भरने से ही मतलब है।

कीमत कम होने का लाभ जनता को क्यों नहीं मिल रहा-

मायावती ने कहा कि पेट्रोल और डीजल पर अंतर्राष्ट्रीय बाजार में बढ़ती कीमत का बोझ सालों-साल अगर गरीब जनता पर थोपा जाता है तो कीमत कम हेने पर जनता को इसका लाभ क्यों नहीं मिलता। उन्होंने आगे कहा कि केंद्र सरकार जनहित व जनकल्याण का बाजारीकरण कर रही है। यहा उचित नहीं है। सरकार की योजनाओं का लाभ तो देश के आखिरी व्यक्ति तक पहुंचना चाहिए। ये सरकार की एक और जुमलेबाजी बनकर रह गई है। गरीब, मजदूर, किसान, बेरोजगार दर-दर की खाक छान रहा है। यही कारण है कि वे अपराधों में लिप्त होने के लिए विवश हो रहे हैं।

सरकार को नहीं हैं करोड़ों गरीब, मजदूर, बेरोजगारों, किसानों की चिंता-

मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार का उत्पाद शुल्क घटाने से अर्थव्यवस्था पर इसका बुरा प्रभाव करने का तर्क सिर्फ पूंजीपतियों की सोच है। इससे यह साफ है कि सरकार को करोड़ों गरीब, बेरोजगारों, मजदूर, किसानों की परवाह नहीं है।मायावती ने नीरव मोदी व विजय माल्या का नाम लिए बगैर कहा कि धन्नासेठ लोग जनता की मोटी कमाई का बैंकों में जमाधन गबन करके विदेश भाग जा रहे हैं। सरकार सिर्फ दिखावे के लिए कोरी बयानबाजी ही कर रही है। इनके नेता संपर्क फॉर समर्थन कार्यक्रम के तहत केवल नामी शख्सियतों से ही मिलकर फोटोआॅप में बिजी हैं। भाजपा सरकार द्वारा यह गांव, देहात, गरीब, किसान, मजदूर का यह अपमान नहीं है तो आखिर और क्या है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned