UP Board Exam: परीक्षा के चौथे दिन दस लाख से ज्यादा छात्रों ने छोड़ी परीक्षा, ये रही वजह

UP Board Exam: योगी सरकार द्वारा आयोजित यूपी बोर्ड परीक्षा के चौथे दिन दस लाख से अधिक विद्यार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी

By: Mahendra Pratap

Updated: 10 Feb 2018, 06:39 PM IST

लखनऊ. UP Board परीक्षा में नकल को रोकने के लिए हर एक्जाम सेंटर में सीसीटीवी कैमरा लगवाए जाने का एलान कर दिया गया। इस बात में इतनी सख्ती बरती गयी कि जो शिक्षक विद्यार्थियों के नकल करवा रहे हैं, उन्हें पकड़ा गया। यानी कि न सिर्फ विद्यार्थी बल्कि शिक्षकों पर भी नजर रखी जा रही है। यूपी बोर्ड परीक्षा में नया रिकॉर्ड बना है। 10 लाख 40 हजार छात्राओं ने हाईस्कूल और इंटर की परीक्षा छोड़ दी है।

यूपी बोर्ड की परीक्षा 6 फरवरी को शुरू हुई थी। महज चौथे दिन पर दस लाख से अधिक विद्यार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। पिछले साल परीक्षा में साढ़े छह लाख से अधिक विद्यार्थियों ने परीक्षा छोड़ी थी। इस बार चौथे दिन ये आंकड़ा चार लाख से अधिक और बढ़ गया है। माना जा रहा है कि मैथ और साइंस के दिन इस आंकड़े में बढ़ोतरी हो सकती है। ये टफ सब्जेक्ट्स होते हैं और इनके पेपर भी टफ आते हैं।

पहले दिन से परीक्षा का माहौल दिखा सख्त

छात्रों की संख्या के लिहाज से यूपी बोर्ड दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं करवाने वाला दुनिया का सबसे बड़ा शिक्षा बोर्ड है। इस साल भी 66 लाख 33 हज़ार छात्रों ने परीक्षा फ़ार्म भरे हैं। लेकिन परीक्षा के पहले दिन एक लाख 80 हज़ार छात्र परीक्षा से नदारद रहे। "जिन छात्रों ने परीक्षा की तैयारी नहीं की थी वो ही ग़ायब रहे हैं। जिन्होंने तैयारी की है वो पेपर देने आए छात्र ने बताया, "माहौल बेहद सख़्त था, परीक्षकों के पास डंडे भी थे। किसी को गर्दन भी नहीं हिलाने दी, जो बच्चे तैयारी से आए थे वो लिख रहे थे। जो नहीं आए थे वो परेशान थे और इधर-उधर गर्दन हिला रहे थे लेकिन नकल नहीं कर पाए थे।''

इस पर अवध नरेश शर्मा कहते हैं, "जिन छात्रों ने परीक्षा की तैयारी नहीं की थी वो ही ग़ायब रहे हैं। जिन्होंने तैयारी की है वो पेपर देने आ रहे हैं। हालांकि, ये संख्या ज्यादा है। जब स्कूलों में पढ़ाई होगी तो ये नौबत नहीं आएगी। जो बच्चा पढ़ेगा वो धड़ल्ले से परीक्षा देगा। पढ़ने वाले बच्चे परीक्षा देने के लिए उत्साहित रहते हैं। परीक्षाएं कड़ी करना शिक्षा व्यवस्था में सुधार की शुरुआत है।

हरदोई जिले के छात्र सबसे आगे

यूपी बोर्ड परीक्षा में बड़ी संख्या में विद्यार्थियों ने परीक्षा छोड़ी है। इस सिलसिले में हरदोई जिले के छात्र टॉप पर हैं, तो आजमगढ़ के छात्र दूसरे नंबर पर हैं। दसवीं के मुकाबले बाहरवीं के छात्र ज्यादा हैं जिन्होंने परीक्षा छोड़ी है। यूपी बोर्ड की परीक्षा 6 फरवरी से शुरू हुई थी, इसमें कुल 66 लाख से ज्यादा छात्र शामिल हो रहे हैं। इस बार 10वीं में 36,55,691 छात्र शामिल हैं और 12वीं में 29,81,327 छात्र शामिल हैं।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned