यूपी में शेल्टर होम में कौन ठहरा और कितने ठहरे , पढिय़े विस्तार से

Anil Ankur

Publish: Jan, 14 2018 07:57:20 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
यूपी में शेल्टर होम में कौन ठहरा और कितने ठहरे , पढिय़े विस्तार से

13 जनवरी को 1790 शहरी गरीबों ने शेल्टर होम का लाभ उठाया

 

लखनऊ . उत्तर प्रदेश में 18 दिसम्बर, 2017 से 13 जनवरी, 2018 के मध्य कुल 369 शैल्टर होम (आश्रय गृह) में कुल 37233 शहरी गरीबों ने निवास किया।
प्रमुख सचिव नगर विकास नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम विभाग मनोज कुमार सिह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा पूरे प्रदेश में समस्त सुविधाओं युक्त शैल्टर होम का संचालन किया जा रहा है जिससे कि पूरे प्रदेश में कोई भी शहरी गरीब सड़क पर/फुटपाथ पर या अन्य किसी खुले स्थान पर सोने पर मजबूर न हो। उन्होंने बताया कि 21, 23 एवं 26 दिसम्बर, 2017 को प्रदेश के 66 जनपदों की 188 नागर निकायों ’’रैपिड सर्वे’’ करवाकर 21852 बेघरों को चिन्हित किया गया।
निदेशक सूडा देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने बताया कि प्रदेश में कुल 169 स्थायी शैल्टर होम तथा 200 अस्थायी शैल्टर होम में शहरी गरीबों के रूकने की समुचित व्यवस्था की गयी है। विगत दिनों 18 दिसम्बर, 2017 से 13 जनवरी, 2018 के मध्य कुल 348 शैल्टर होम में 37233 शहरी गरीबों द्वारा आश्रय लिया गया। उन्होंने बताया कि 13 जनवरी, 2018 को 1790 शहरी गरीबों द्वारा शैल्टर होम की सुविधाओं को लाभ उठाया गया।
निदेशक, सूडा देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने प्रदेश के शहरी गरीबों से यह अनुरोध किया है कि सरकार द्वारा चलाई जा रही शैल्टर होम की योजना लाभ उठायें एवं किसी भी दशा में खुले स्थान पर न सोयें। पाण्डेय ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा शैल्टर होम में रूकने के लिए पलंग, गद्दा, कम्बल, किचन, अलमारी, फस्र्ट ऐड बाक्स, स्नान घर, ठंड से बचाव हेतु अलाव तथा अन्य जरूरी सुविधाये उपलब्ध करायी जा रही है। परिवारों हेतु अलग से रूम उपलब्ध है तथा किचन में खाने-बनाने की भी सुविधा उपलब्ध है.

निदेशक, सूडा देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने प्रदेश के शहरी गरीबों से यह अनुरोध किया है कि सरकार द्वारा चलाई जा रही शैल्टर होम की योजना लाभ उठायें एवं किसी भी दशा में खुले स्थान पर न सोयें। पाण्डेय ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा शैल्टर होम में रूकने के लिए पलंग, गद्दा, कम्बल, किचन, अलमारी, फस्र्ट ऐड बाक्स, स्नान घर, ठंड से बचाव हेतु अलाव तथा अन्य जरूरी सुविधाये उपलब्ध करायी जा रही है। परिवारों हेतु अलग से रूम उपलब्ध है तथा किचन में खाने-बनाने की भी सुविधा उपलब्ध है

Ad Block is Banned