चार और मरीजों में कोरोना की पुष्टि, कोरोना प्राभावित देशों से लौटने वालों की संख्या 37 हजार पार

प्रदेश में कोरोना वायरस से प्रभावित देशों से लौटने वाले यात्रियों की संख्या चार दिन में कई गुना बढ़ गई है

Karishma Lalwani

27 Mar 2020, 11:34 AM IST

e

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना प्रभावित देशों की यात्रा कर लौट रहे लोगों को चिन्हित करने के लिए जिला स्तर पर बनी रैपिड रिस्पांस टीम ने जांच का कार्य तेज कर दिया है। संक्र्तामक रोग निदेशालय के आकंड़ों के अनुसार, बीते चार दिनों में लोगों की संख्या चार गुना बढ़ गई है। नोवेल कोराना वायरस के प्रकोप से प्रभावित देशों से प्रदेश में आने वालों की संख्या बृहस्पतिवार को 37748 हो गई है। शुक्रवार को कोरोना के चार और नए केस सामने आए। इसमें नोएडा के तीन और आगरा का एक केस शामिल है।

विदेश से 165 पहुंचे बस्ती

22 मार्च तक कोरोना वायरस से प्रभावित देशों से लौटने वालों की संख्या 8500 थी। इनमें चीन सहित ऐसे देश से लौटने वाले यात्री शामिल हैं, जहां कोरोना का प्रकोप ज्यादा है। संक्रामक रोग विभाग लगातार ऐसे लोगों पर नजर बनाए रखे हैं, जो चीन, ईटली सहित कोरोना प्रभावित देशों से या.त्र कर लौट रहे हों। रैपिड रिस्पांस टीम ने इन्हें 14 दिन के लिए होम क्वारंटाइन किया है। कोरोना वायरस के लक्षण दिखने वालों को अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में विदेश से लौटने वालो की संख्या 165 है। इनमें से अधिकांश की फिजीकल जांच स्वास्थ्य विभाग की टीम ने की है। जिले में अपने ही देश के विभिन्न हिस्सों से भी लगभग दौ सौ लोग पहुंचे हैं, जिनकी सूचना स्वास्थ्य विभाग के कंट्रोल रूम तक पहुंची है।

यूपी के 16 जिलों में 228 एफआईआर

कोरोना के बढ़ते दायरे को खत्म करने के लिए देश को 14 अप्रैल तक लॉकडाउन कर दिया गया है। इस बीच लॉकडाउन के नियमों का उल्लंगन करने वालों के खिलाफ पुलिस व प्रशासन सख्त है। यूपी के 16 जिलों में अब तक 228 एफआईआर दर्ज की गई है। लॉकडाउन के दौरान वाहन लेकर निकले लोगों से 22,85,651 रुपए का जुर्माना वसूला गया। 10754 वाहनों के चालान हुए और 645 वाहनों को सीज कर दिया गया।

शुक्रवार को चार कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि

शुक्रवार को कोरोना से संक्रमित चार लोगों की पुष्टि हुई है। इनमें नोएडा से दो महिलाएं और एक पुरुष हैं। तीनों की ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। आगरा से भी एक युवक में कोरोना की पुष्ट्री हुई है। यह युवक 20 मार्च को यूएसए से लौटा था।

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned