scriptMothers Day 2022 Read Poems Mother will be remembered | Mother's Day 2022 : ये चार कविताएं हैं, पढ़ेंगे तो मां की याद आएंगी | Patrika News

Mother's Day 2022 : ये चार कविताएं हैं, पढ़ेंगे तो मां की याद आएंगी

मदर्स डे या मातृ दिवस यूपी सहित पूरे देश में मनाया जा रहा है। मां की ममता और प्यार को सम्मान देने के आठ मई को मदर्स डे मनाया जाता है। मुनव्वर राना, हरिवंश राय बच्चन, निदा फ़ाज़ली और आलोक श्रीवास्तव की इन कविताओं और गजलों को पढ़ें और अपनी मां को याद करें।

लखनऊ

Published: May 08, 2022 11:30:16 am

मदर्स डे या मातृ दिवस यूपी सहित पूरे देश में मनाया जा रहा है। मां और बच्चे का रिश्ता दुनिया का सबसे अनमोल रिश्ता है। हर मां अपने बच्चे के लिए अपना पूरा जीवन कुर्बान कर देतीं हैं। बच्चे की खुशी में खुश और तकलीफों में दर्द बांटती है। मां की इसी ममता और प्यार को सम्मान देने के आठ मई को मदर्स डे मनाया जाता है। यूपी से सम्बंध रखने वाले शायर, कवि, उपन्यासकार ने अपनी कलम से मां को याद किया है। उन्हें अपना सम्मान दिया है। मुनव्वर राना, हरिवंश राय बच्चन, निदा फ़ाज़ली और आलोक श्रीवास्तव की इन कविताओं और गजलों को पढ़ें और अपनी मां को याद करें।
Mother's Day 2022 : ये चार कविताएं हैं, पढ़ेंगे तो मां की याद आएंगी
Mother's Day 2022 : ये चार कविताएं हैं, पढ़ेंगे तो मां की याद आएंगी
मदर्स डे : मुनव्वर राना के ये चंद शेर है, इनको पढ़ने के साथ आपकी मां का चेहरा आपके सामने आ जाएगा। साभार

1. चलती फिरती हुई आंखों से अज़ां देखी है
मैं ने जन्नत तो नहीं देखी है मां देखी है
2. किसी को घर मिला हिस्से में या कोई दुकाँ आई
मैं घर में सब से छोटा था मेरे हिस्से में माँ आई

3. इस तरह मेरे गुनाहों को वो धो देती है
माँ बहुत ग़ुस्से में होती है तो रो देती है
4. मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊँ
माँ से इस तरह लिपट जाऊँ कि बच्चा हो जाऊँ

यह भी पढ़ें

Happy Mother's Day 2022: मां की ममता को बयां करते इन खुबसूरत मैसेज से करें विश

मदर्स डे : मदर्स डे पर हरिवंश राय बच्चन इस कविता को पढ़ें। साभार
आज मेरा फिरसे मुस्कुराने का मन किया,
माँ की उंगली पकड़कर घूमने जाने का मन किया,

उंगलियां पकड़कर माँ ने मेरी मुझे चलना सिखाया है,
खुद गीले में सोकर माँ ने मुझे सूखे बिस्तर पर सुलाया है,
माँ की गोद में सोने को फिर से जी चाहता है,
हाथों से माँ के खाना खाने का जी चाहता है,

लगाकर सीने से माँ ने मेरी मुझको दूध पिलाया है,
रोने और चिल्लाने पर बड़े प्यार से चुप करवया है,
मेरी तकलीफ में मुझसे ज्यादा मेरी माँ ही रोइ है,
खिला-पीला के मुझको माँ मेरी, कभी भूखे पेट भी सोइ है,

कभी खिलोने से खिलाया है, कभी आँचल में छिपाया है,
गलतियां करने पर भी माँ ने मुझे प्यार से समझाया है,
माँ के चरणों में मुझे जन्नत नज़र आती है,
लेकिन माँ मेरी मुझको हमेशा सीने से लगाती है||

यह भी पढ़ें

एक औरत दो किरदार, चंबल की डकैत और ममतामयी मां की कहानी सुन रो पड़ेंगे आप

मदर्स डे : बेसन की सौंधी रोटी पर खट्टी चटनी जैसी मां, निदा फ़ाज़ली का एक न भूलाने वाली कविता है। मदर्स डे इस पढ़ेंगे तो एक तस्वीर आपके सामने आ जाएगी। साभार
बेसन की सौंधी रोटी पर खट्टी चटनी जैसी माँ
याद आती है! चौका बासन चिमटा फुकनी जैसी माँ

बाँस की खर्री खाट के ऊपर हर आहट पर कान धरे
आधी सोई आधी जागी थकी दो-पहरी जैसी माँ
चिड़ियों की चहकार में गूँजे राधा मोहन अली अली
मुर्ग़े की आवाज़ से बजती घर की कुंडी जैसी माँ

बीवी बेटी बहन पड़ोसन थोड़ी थोड़ी सी सब में
दिन भर इक रस्सी के ऊपर चलती नटनी जैसी माँ
बाँट के अपना चेहरा माथा आँखें जाने कहाँ गई
फटे पुराने इक एल्बम में चंचल लड़की जैसी माँ

मदर्स डे : अम्मा, आलोक श्रीवास्तव की एक शानदार रचना है। साभार

चिंतन दर्शन जीवन सर्जन
रूह नज़र पर छाई अम्मा
सारे घर का शोर शराबा
सूनापन तनहाई अम्मा
उसने खुद़ को खोकर मुझमें
एक नया आकार लिया है,
धरती अंबर आग हवा जल
जैसी ही सच्चाई अम्मा

सारे रिश्ते- जेठ दुपहरी
गर्म हवा आतिश अंगारे
झरना दरिया झील समंदर
भीनी-सी पुरवाई अम्मा

घर में झीने रिश्ते मैंने
लाखों बार उधड़ते देखे
चुपके चुपके कर देती थी
जाने कब तुरपाई अम्मा
बाबू जी गुज़रे, आपस में-
सब चीज़ें तक़सीम हुई तब-
मैं घर में सबसे छोटा था
मेरे हिस्से आई अम्मा ।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में हैदराबाद में शुरू हुई BJP राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठकUdaipur Kanhaiya Lal Murder Case में बड़ा खुलासा: धमकियों के बीच कन्हैयालाल ने एक सप्ताह पहले ही लगवाया था CCTV, जानिए पुलिस को क्या मिला...Udaipur Kanhaiya Lal Murder Case : कोर्ट तक यूं सुरक्षित पहुंचे कन्हैया हत्याकांड के आरोपी लेकिन...ऋषभ पंत 146, रवींद्र जडेजा 104, टीम इंडिया का स्कोर 416, 15 साल बाद दोनों ने रच दिया बड़ा इतिहासMumbai: बीजेपी सांसद हेमा मालिनी ने मुंबई की सड़कों पर गड्ढों को देखकर जताई चिंता, किया पुराने दिनों को याद250 मिनट में पूरा हुआ काशी का सफर, कानपुर-वाराणसी सिक्स लेन का स्पीड ट्रायल सफलनूपुर शर्मा के खिलाफ कोलकाता पुलिस ने जारी किया लुकआउट नोटिस, समन के बाद भी नहीं हुई हाजिरMaharashtra Politics: देवेंद्र फडणवीस किसके कहने पर महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम बनने के लिए हुए तैयार, सामने आई बड़ी जानकारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.