सांसद का विवादित बयान, एनटीपीसी का बॉयलर भगवा रंग का होता तो नहीं होता यह हादसा

सांसद का विवादित बयान, एनटीपीसी का बॉयलर भगवा रंग का होता तो नहीं होता यह हादसा
NTPC Boiler Blast

Shatrudhan Gupta | Updated: 03 Nov 2017, 04:58:39 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

32 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हैं, जिनका लखनऊ, रायबरेली समेत आसपास के जिले में इलाज चल रहा है।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के रायबरेली में नेशनल थर्मल पॉवर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) NTPC Boiler Blast के ऊंचाहार प्लांट में बुधवार को हुए हादसे के बाद अस्पतालों में भर्ती घायल कर्मचारियों और अधिकारियों को देखने के लिए राजनीतिक पार्टियों के नेता पहुंच रहे हैं। मालूम हो कि बुधवार को एनटीपीसी के इस प्लांट में बॉयलर का स्टीम पाइप फटने से करीब 32 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हैं, जिनका लखनऊ, रायबरेली समेत आसपास के जिले में इलाज चल रहा है।

वहीं, इस हादसे को लेकर राजनीतिक बयानबाजी भी जोरों पर है। इस हादसे को लेकर विपक्षी पार्टिंयां प्रदेश की योगी सरकार पर हमलावर हैं। वहीं, कुछ लोग इस घटना के लिए एनटीपीसी प्रबंधन की लापरवाही को जिम्मेदार बता रहे हैं। इस हादसे को लेकर जनता दल यूनाइटेड से निलंबित राज्यसभा सांसद अली अनवर ने विवादित बयान देकर मामले को गरमा दिया है।

विवादित बयान पर गरमाई राजनीति

जदयू से निलंबित सांसद अली अनवर ने कहा कि उत्तर प्रदेश में ये लोग हर एक चीज पर भगवा रंग चढ़ा रहे हैं, अगर एनटीपीसी पावर प्लांट को भी भगवा कर दिए होते तो शायद ये हादसा ना होता। अनवर ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार अब हर एक चीज पर भगवा कलर चढ़वा रही है। चाहे वह यूपी एनेक्सी हो या फिर कानपुर नगर का यूएचएम जिला अस्पताल। उन्होंने कहा कि कुछ दिनों बाद आपको हर चीज पर भगवा रंग देखने को मिलेगा। जदयू से निलंबित सांसद अली अनवर ने कहा कि अगर एनटीपीसी पावर प्लांट को भी योगी सरकार भगवा कर दिए होते तो शायद यह हादसा ना होता। इस बयान के बाद यूपी की राजनीति गरमा गई है। आपको बता दें कि पिछले दिनों यूपी में सचिवालय जैसी इमारतों को भगवा रंग से रंगा गया। यूपी रोडवेज की बसों को भी भगवा रंग का किया जा रहा है। अली अनवर ने यूपी सरकार के इसी फैसले को ध्यान में रखते हुए बीजेपी की चुटकी ली है।

30 से ज्यादा लोगों की हो चुकी है मौत

मालूम हो कि बीते बुधवार को रायबरेली के ऊंचाहार स्थित एनटीपीसी प्लांट NTPC Boiler Blast में बड़ा हादसा हो गया था। एनटीपीसी की ऊंचाहार इकाई में बॉयलर की स्टीम पाइप फटने से भीषण आग लग गई। आग से वहां अफरातफरी मच गई। इस हादसे में अब तक 32 लोगों के मरने की पुष्टि हो चुकी है, जबकि 200 से अधिक मजदूर घायल हैं, जिनमें से कई की हालत गंभीर बताई जा रही है।

योगी सरकार को छह हफ्ते में देनी होगी रिपोर्ट

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने गुरुवार को रायबरेली के ऊंचाहार स्थित नेशनल थर्मल पावर कारपोरेशन (एनटीपीसी) NTPC Boiler Blast के प्लांट में हुए हादसे पर योगी सरकार को नोटिस जारी किया है। एनएचआरसी ने छह हफ्ते में विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। वहीं, एनएचआरसी ने प्रदेश सरकार को निर्देश देते हुए कहा है कि मामले में किसी भी तरह की कोई लापरवाही नहीं बरती जाए। यही नहीं, सरकार यह सुनिश्चित करे कि मृतकों के परिजनों को बिना किसी देरी के समुचित आर्थिक सहायता मुहैया करवाई जाए।

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned