जब अपने परिवार के साथ दिवाली मना रहे थे अखिलेश, मुलायम सिंह ने कर दिया कुछ ऐसा, सपा की बढ़ी धड़कन

जब अपने परिवार के साथ दिवाली मना रहे थे अखिलेश, मुलायम सिंह ने कर दिया कुछ ऐसा, सपा की बढ़ी धड़कन

Nitin Srivastva | Publish: Nov, 08 2018 07:47:14 AM (IST) | Updated: Nov, 08 2018 08:14:00 AM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

मुलायम-शिवपाल की मुलाकात के दौरान प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के कई बड़े नेता और कार्यकर्ता भी रहे मौजूद...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में शिवपाल यादव और अखिलेश यादव के बीच भले ही सब कुछ ठीक न चल रहा हो लेकिन मुलायम सिंह यादव हर मौके पर अपने भाई के साथ खड़े दिखाई पड़ते हैं। अभी कुछ दिन पहले ही मुलायम सिंह यादव खुद अचानक शिवपाल यादव के घर पहुंचे थे। मुलायम को शिवपाल के घर पर देखकर समाजवादी पार्टी में खलबली मच गर्ई थी। इतना ही नहीं शिवपाल ने तो बड़े भाई मुलायम सिंह यादव के सामने अपनी नई पार्टी का अध्यक्ष बनाने तक की पेशकश कर दी थी, हालांकि मुलायम ने इसपर अपनी कोई टिप्पणी नहीं की। अब एक बार फिर जब अखिलेश यादव अपने परिवार के साथ दिवाली मना रहे थे तो मुलायम ने कुछ ऐसा कर दिया जो सपा की धड़कने बढ़ाने के लिए काफी है।

 

मुलायम और शिवपाल की मुलाकात

दरअसल दीपावली के दिन मुलायम सिंह यादव अपने छोटे भाई शिवपाल यादव के घर पहुंच गए। मुलायम अपने भाई को दीपावली के अवसर पर मुबारकबाद देने पहुंचे थे। इस दौरान मुलायम के साथ उनकी पत्नी साधना गुप्ता भी मौजूद थीं। जानकारी के मुताबिक मुलाकात के दौरान शिवपाल के घर पर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के कई बड़े नेता और कार्यकर्ता भी मौजूद थे। मुलायम ने सभी से मुलाकात की और दिवाली की मुबारकबाद दी। मुलायम-शिवपाल परिवार के साथ काफी देर तक बैठे रहे। इस दौरान मुलायम और शिवपाल के बीच राजनीति से जुड़ी भी काफी बातचीत हुई।

 

किसके साथ हैं मुलायम

इस बीच एक सभी के मन में एक ही सवाल खड़ा हो रहा है कि समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव आखिर किसकी तरफ हैं। क्योंकि मुलायम कभी शिवपाल की तरफ तो कभी अपने बेटे अखिलेश यादव की तरफ खड़े होते हैं। ऐसे में अखिलेश और शिवपाल पर मुलायम का साइलेंट मोड में रहना सपा कार्यकर्ताओं के सामने यह एक रहस्य बना हुआ है। क्योंकि मुलायम न तो शिवपाल का सार्वजनिक तौर पर समर्थन कर रहे हैं और न ही अखिलेश का। वहीं राजनीतिक जानकारों का मानना है कि मुलायम अभी अपने पत्ते खोलने के मूड में नहीं हैं। वह शायद शिवपाल और अखिलेश के बीच और दूरियां बढ़ेंने या उनका फिर मिलाप का इंतजार कर रहे हैं। वहीं कुछ जानकारों का मानना है कि मुलायम की तरफ से यह सस्पेंस 2019 के लोकसभा चुनाव में सपा को नुकसान भी पहुंचा सकता है।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned