कैबिनेट विस्तार के बाद आनन-फानन में मुलायम पहुंचे सपा कार्यालय, भाजपा की इस चाल को कर सकते हैं नाकाम

कैबिनेट विस्तार के बाद आनन-फानन में मुलायम पहुंचे सपा कार्यालय, भाजपा की इस चाल को कर सकते हैं नाकाम
mulayam singh

Abhishek Gupta | Updated: 23 Aug 2019, 05:41:26 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को अपने मंत्रिमंडल में विस्तार कर एक तीर से कई निशाने साधे हैं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कैबिनेट विस्तार (Cabinet Expansion) के बाद लखनऊ में सियासी हलचल देखने को मिल रही है। सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने गुरुवार को अपने मंत्रिमंडल में विस्तार कर एक तीर से कई निशाने साधे हैं। जिसमें समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के संस्थापक मुलायम सिंह यादव (Mualayam Singh Yadav) के गढ़ कहे जाने वाले इलाके इटावा (Etawah), मैनपुरी (Mainpuri), औरैया (Auraiya), कानपुर देहात (Kanpur Dehat), बदायूं (Badaun) शामिल हैं। इन इलाकों से भाजपा नेताओं को मंत्री बनाकर मुलायम के घरों पर सेंधमारी करने की कोशिश की गई है है। वहीं इस विस्तार के मंत्री पद से हटाए गए सुहैलदेव भार्तीय समाज पार्टी (Suhaildev Bhartiya Samaj Party) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर (Omprakash Rajbhar) ने भी शुक्रवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश (Akhilesh Yadav) से मुलाकात की। दरअसल कैबिनेट विस्तार में अनिल राजभर (Anil Rajbhar) का कद बढ़ाया गया है जिससे सुभासपा अध्यक्ष को राजभर वोट बैंक में सेंधमारी का डर सता रहा है। राजभर के सपा मुख्यालय में अखिलेश से मुलाकात के बाद सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव भी सपा कार्यालय पहुंचे। बताया जा रहा है कि सपा के सामने अपने क्षेत्रों को भाजपा से बचाने का नया संकट आ गया है।

ये भी पढ़ें- प्रदेश के मदरसों के लिए योगी सरकार का बड़ा ऐलान, दिया जाएगा सम्मान, साथ में इतने रुपए ईनाम

भाजपा ने इन इलाकों से बनाए मंत्री-

भाजपा ने यादव बेल्ट वाले जिलों से आने वाले जनप्रतिनिधियों को सीएम योगी ने मंत्रिमंडल में खासतौर पर जगह दी है। माना जा रहा है कि सपा के गढ़ कन्नौज की लोकसभा सीट को जीत लेने के बाद अब भाजपा की निगाह मैनपुरी पर है, जहां से मुलायम सिंह यादव सांसद हैं। भाजपा ने यहां की भोगांव सीट से भाजपा विधायक राम नरेश अग्निहोत्री को आबकारी मंत्री बना कर अपने मंसूबे साफ कर दिए हैं। वहीं कानपुर देहात का इलाका भी कन्नौज संसदीय सीट में आता है। इस जिले की रसूलाबाद विधानसभा क्षेत्र कन्नौज संसदीय सीट में आता है। औरया का कुछ हिस्सा (विधूना) भी इसी के दायरे में आता है। इन दोनों जिलों को भी मुख्यमंत्री ने मंत्रिमंडल में तवज्जो दी है।

ये भी पढ़ें- योगी ने इनके खिलाफ कर दिया बड़ा ऐलान, कहीं यह 8 लाख लोग सीएम के लिए न बन जाए परेशानी का सबब

Akhilesh Yadav

बदायूं पर भी साधा निशाना-

भाजपा मुलायम सिंह यादव के अभेद गढ़ बदायूं में मुलायम के भतीजे को लोकसभा में पहले ही मात दे चुकी है। यहां सपा का असर और कम करने के लिए भाजपा ने यहां के पार्टी विधायक महेश चंद्र गुप्ता (नगर विकास राज्यमंत्री) को मंत्रिमंडल में लिया गया है। वहीं भाजपा ने इस बार औरया की दीबियापुर से विधायक लाखन सिंह राजपूत (कृषि राज्यमंत्री) को तवज्जो दी है। इसी तरह कानपुर देहात जिले से अजीत सिंह पाल (इलेक्ट्रानिक राज्यमंत्री) को भी मंत्रिमंडल में स्थान दिया गया है। यह सब इस बात के संकेत हैं कि भाजपा ओबीसी बाहुल्य इलाकों में अपनी पैठ और मजबूत करने के साथ सपा के सामने नया संकट पैदा करना चाहती है।

ये भी पढ़ें- नहीं किया होता ऐसा, तो चारों मंत्री बने रहते सीएम योगी के मंत्रिमंडल में, अमित शाह ने दे दिए थे आदेश

Rajbhar Akhilesh

ओमप्रकाश राजभर ने की अखिलेश से मुलाकात-

कैबिनेट विस्तार के बाद बेचैन सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने भी आनन-फानन में शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से सपा मुख्यालय में मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच करीब घंटे भर की बातचीत के बाद गठबंधन को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं। माना जा रहा है कि आगामी विधानसभा उपचुनाव के सिलसिले में दोनों नेताओं में मुलाकात हुई। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि योगी मंत्रिमंडल में अनिल राजभर के प्रमोशन से भी ओमप्रकाश राजभर में बेचैनी है। यही वजह है कि उन्होंने समाजवादी पार्टी अध्यक्ष से आगे की रणनीति पर चर्चा की, ताकि अपने राजभर वोट में सेंध लगने से रोका जा सके।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned