मुलायम से मिले शिवपाल-अखिलेश, शिवपाल को पार्टी में मिलेगा सम्मान!

मुलायम से मिले शिवपाल-अखिलेश, शिवपाल को पार्टी में मिलेगा सम्मान!
Mulayam Singh Yadav

Shatrudhan Gupta | Updated: 08 Oct 2017, 06:11:59 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम ङ्क्षसह यादव से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी मिले और प्रदेश के पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव भी।

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम ङ्क्षसह यादव से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी मिले और प्रदेश के पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव भी। दोनों के मिलने के बाद अब अखिलेश यादव जिंदाबाद के नारे लगने लगे हैं। वहीं, अब शिवपाल सिंह यादव के स्वर नरम पडऩे लगे हैं। अब वे पार्टी को एक जुट होकर आगे बढ़ाने के लिए सहमत हो गए हैं।

राहुल से अखिलेश की दोस्ती रहेगी बरकरार

आगरा में आयोजित पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद अखिलेश यादव के स्वागत में जगह-जगह स्वागत द्वार बनाए गए। अखिलेश जिंदाबाद के नारे लगाए गए। अखिलेश यादव ने समारोह में कहा, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से उनकी दोस्ती बरकरार रहेगी। उन्होंने कहा कि आपका कोई दोस्त मोटा हो तो उसे छोड़ तो नहीं देते हैं। अखिलेश ने कहा कि हर आदमी अपने काम में माहिर होता है, वे किसी आदमी के मोबाइल फोन को देखकर उसकी लोकेशन बता सकते हैं, लेकिन अगर कोई उनसे कहे कि तंत्र मंत्र या अनुष्ठान करवा दो, वे ऐसा नहीं कर सकते हैं।

सपा अध्यक्ष अखिलेश ने कहा कि उन्होंने जीवन को मांजने की ट्रेनिंग तो धौलपुर के सैनिक स्कूल से ले ली थी। एक सवाल पूछे जाने पर कि क्या सपा और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) भविष्य में गठबंधन कर सकते हैं तो अखिलेश ने कहा कि वे तो हमेशा बीएसपी सुप्रीमो को बुआ ही बुलाते हैं। इस सवाल का उत्तर उन्होंने अधूरा ही दिया।

शिवपाल समेत मुलायम के कुछ करीबी को संगठन में मिलेगी जगह

मालूम हो कि सपा के आपसी विवाद के मुद्दे पर लग रही अटकलों के बीच शनिवार को अखिलेश यादव ने एक बार फिर अपने पिता मुलायम सिंह से मुलाकात की थी। दोबारा राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने के बाद अखिलेश ने मुलायम से आशीर्वाद लिया। बताया जाता है कि दोनों नेताओं के बीच लंबे समय तक सपा के भविष्य को लेकर चर्चा हुई। इससे पहले वे कह चुके हैं कि उन्हें पिता का आशीर्वाद मिल गया है। पारिवारिक नजदीकी लोगों की मानें तो मुलायम ने बातचीत के दौरान अखिलेश से इस बार संगठन में शिवपाल समेत अपने कुछ करीबी लोगों को शामिल करने का प्रस्ताव भी रखा है। दूसरी ओर शिवपाल के स्वर भी धीमे पड़ गए हैं।

शिवपाल ने भी मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की और अपना अंदाज बदल दिया है। इसी के साथ शिवपाल के बेटे आदित्य यादव ने भी सक्रिय राजनीति में आने की शुरुआत कर दी है। कहा जा रहा है कि शिवपाल को यह भरोसा दिलाया गया है कि उन्हें पार्टी में सम्मान पूर्वक स्थापित किया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned