बड़ी खबर: मुलायम नई पार्टी को लेकर कल कर सकते हैं बड़ी घोषणा!

बड़ी खबर: मुलायम नई पार्टी को लेकर कल कर सकते हैं बड़ी घोषणा!
Mulayam Singh Yadav

Shatrudhan Gupta | Updated: 24 Sep 2017, 05:36:49 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

समाजवादी पार्टी के लिए अगले कुछ दिन बेहद महत्वपूर्ण हैं। क्योंकि, सितंबर के इस बचे छह दिन में पार्टी को लेकर कोई बड़ी घोषणा हो सकती है।

लखनऊ. समाजवादी पार्टी (सपा) के लिए अगले कुछ दिन बेहद महत्वपूर्ण हैं। क्योंकि, सितंबर के इस बचे छह दिन में पार्टी को लेकर कोई बड़ी घोषणा हो सकती है। इस घोषणा पर प्रदेश की राजनीति भी प्रभावित होगी। दरअसल, समाजवादी पार्टी के संस्थापक और संरक्षक मुलायम सिंह यादव अगले कुछ दिनों में कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं। मुलायम के करीबी सूत्रों की मानें तो नेताजी 25 सितंबर यानी कल कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं। सूत्र बताते हैं कि नेताजी समाजवादी पार्टी को छोड़कर नई पार्टी की घोषणा कर सकते हैं। माना जा रहा है कि यदि ऐसा होता है तो अखिलेश यादव को बड़ा झटका लगेगा। क्योंकि, यदि मुलायम अलग पार्टी बनाते हैं तो सपा के कई दिग्गज उनके साथ जा सकते हैं। ऐसे में अखिलेश कमजोर हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें... पत्नी डिंपल यादव को लेकर अखिलेश यादव का आया बड़ा बयान, पार्टी और घर में मचा घमासान!

दरअसल, 25 सितंबर (सोमवार) को समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव लखनऊ के राम मनोहर लोहिया ट्रस्ट में प्रेस कॉन्फेंस करने जा रहे हैं। इस प्रेस कॉन्फेंस में उनके छोटे भाई व प्रदेश के पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव भी मौजूद रहेंगे। सूत्र बताते हैं कि इस प्रेस कॉन्फेंस में मुलायम नए मोर्चे को लेकर बड़ी घोषणा कर सकते हैं। सूत्र यह भी बताते हैं कि इस मौके पर मुलायम सिंह यादव की पुरानी पार्टी लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह को भी आमंत्रित किया गया है। मालूम हो कि यूपी विधानसभा चुनाव के पहले से ही यादव परिवार में मनमुटाव चल रहा है। शिवपाल सिंह यादव की अखिलेश से अनबन जगजाहीर है। आए दिन अखिलेश शिवपाल पर तो शिवपाल अखिलेश को नसीहत देते नजर आते हैं।

यह भी पढ़ें... मुलायम का अखिलेश को बड़ा झटका, नवरात्र में इस नाम से पार्टी बनाने का किया ऐलान!

वहीं, मुलायम कहने को पार्टी के संरक्षक हैं, लेकिन वे पार्टी के अधिकतर कार्यक्रम में नदारद रहते हैं। इसकी वजह अखिलेश की मनमर्जी बताई जा रही है। दरअसल, अखिलेश और उनके चाचा प्रो. रामगोपाल यादव का पार्टी पर एकाधिकार हो गया है। कहने को मुलायम को संरक्षक बना दिया गया है, लेकिन पार्टी के किसी भी निर्णय में उनसे विचार विमर्श नहीं किया जाता, जिससे वह नाराज बताए जा रहे हैं। हालांकि, अखिलेश आए दिन यह कहते नहीं थकते कि नेताजी का आशीर्वाद मेरे साथ है। लेकिन, पार्टी कार्यक्रम से नेताजी की दूरी उनकी नाराजगी को बताती है।

यह भी पढ़ें... शिवपाल बोले, समाजवादी पार्टी के कुछ नेता भाजपा से मिले हुए हैं

काफी अहम है मुलायम की प्रेस कॉन्फेंस
समाजवादी पार्टी के राज्य सम्मेलन के ठीक बाद अब मुलायम सिंह यादव की यह प्रेस कॉन्फेंस काफी अहम मानी जा रही है। माना जा रहा है कि मुलायम अपने पुराने संगठन लोकदल के बैनर तले एक सेक्युलर मोर्चा बना सकते हैं। यह दावा लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह ने भी पिछले दिनों किया था। शिवपाल काफी पहले से ही मुलायम सिंह यादव की अगुवाई में समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के गठन की बात कह रहे हैं, लेकिन फिलहाल यह अभी तक वजूद में नहीं आया है।

यह भी पढ़ें... भाजपा के राज्यसभा सांसद जुगल किशोर ने कहा, पीएम चाहते तो मायावती होती जेल में

कहां 39 थे, अब बचे सिर्फ 5 लोकसभा सदस्य
पिछले दिनों राजधानी लखनऊ में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव लोहिया ट्रस्ट की बैठक में कहा कि पहले पार्टी काफी मजबूत थी। हमारा लोहा देश कई राज्य मानते थे। लेकिन, अब पार्टी कहां से कहां पहुंच गई। हमारे केवल 47 विधायक ही बचे। पहले पार्टी राष्ट्रीय पार्टी की हैसियत वाली थी। मध्यप्रदेशए बिहार में हम लोगों के विधायक जीते थे। उत्तराखंड में भी जीत हुई। लोकसभा में सपा 39 सीटों तक पहुंच गई। अब केवल पांच हैं। मुलायम ने बैठक में जल्द बड़ा फैसला लिए जाने का संकेत दिया।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned