मुनव्वर राणा के सुर, कहा- तालिबान जंगली कौम और हिंदुस्तान एक मुल्क

मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने कहा कि तालिबान पर मैंने शायराना अंदाज में बयान दिया था, इसे जरा भी गंभीरता से न लिया जाये

By: Hariom Dwivedi

Published: 21 Aug 2021, 05:53 PM IST

लखनऊ. राजधानी लखनऊ में केस दर्ज होते ही मशहूर शायर मुनव्वर राणा के सुर बदल गये हैं। उन्होंने कहा कि तालिबान पर मैंने शायराना अंदाज में बयान दिया था, इसे जरा भी गंभीरता से न लिया जाये। तालिबान तो एक जंगली कौम है और हिंदुस्तान एक मुल्क। इस दौरान उन्होंने योगी-मोदी की भी जमकर तारीफ की। कहा कि मैं मोदी जी को पसंद करता हूं। मेरी कमजोरी है कि मैं तो मोदी जी से इश्क करता हूं। कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के काम का भी मुरीद हूं।

लखनऊ में केस दर्ज
लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली में मुनव्वर राणा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। हिंदू महासभा और वाल्मीकि समाज ने मुनव्वर राना पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने, शांति भंग करने की धारा समेत रासुका और एससी-एसटी के तहत मुकदमा दर्ज करवाने के लिए हजरतगंज कोतवाली में तहरीर दी थी।

क्या कहा था मुनव्वर राणा ने
बीते दिनों तालिबान का समर्थन करते हुए मुनव्वर ने कहा था कि मुनव्वर राणा ने कहा था कि आप तालिबान को आतंकी नहीं कह सकते हैं। तालिबान ने अगर अपने मुल्क अफगानिस्तान को आजाद करा लिया तो उसमें दिक्कत क्या है? उन्होंने कहा था कि यूपी में भी तालिबान जैसा काम हो रहा है। यहां भी तालिबानी हैं। मुसलमान ही नहीं हिंदू भी तालिबानी होते हैं। महात्मा गांधी की हत्या करने वाला नाथूराम गोडसे तालिबानी था। मुनव्वर राणा ने कहा कि तालिबान के पास जितनी एके-47 होंगी, उससे ज्यादा हिन्दुस्तान में माफियाओं के पास हैं।

यह भी पढ़ें : मुनव्वर राणा का विवादित बयान- हिंदुस्तान को डरने की जरूरत नहीं, तालिबान से ज्यादा क्रूरता हमारे यहां

Narendra Modi
Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned