यूपी में भर्तियों की पोटली इसी महीने खोलेंगे योगी- सिपाहियों, PAC, होम गार्ड, शिक्षक की भर्तियां होंगी

  • 50 हजार सिपाहियों की भर्तियां होंगी
  • होम गार्ड की भर्तियां भी इसी महीने
  • 69000 पदों पर होगी शिक्षक भर्ती

 

By: Anil Ankur

Published: 03 Jan 2019, 04:10 PM IST


लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार नए साल के पहले महीने में बेरोजगारों के लिए गिफ्ट हैम्पर लेकर आ रही है। एक लाख से अधिक लोगों की भर्ती की प्रक्रिया इसी महीने से शुरू हो जाएंगी। इसमें 50 हजार सिपाहियों की भर्तियां और 69000 शिक्षकों की भर्तियां प्रमुख हैं। होमगार्ड पंचायत और अन्य विभागों में भर्तियों की प्रक्रिया शुरू करने की तैयाराी राज्य सरकार ने प्रारम्भ कर दी है।

पुलिस की भर्ती के लिए सीएम ने दिए निर्देश
गृह विभाग ने अपने विभागीय अधिकारियेां समेत मुख्यमंत्री कार्यालय को सूचित किया था कि यूपी में पुलिस कर्मियों की काफी कमी है। रिपोर्ट के मुताबिक यूपी की जनसंख्या घनत्व को देखते हुए तकरीबन दो लाख पुलिस कर्मचारियों की कमी है। यही कारण है कि अपराध नियंत्रण में पुलिस विभाग को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। गृह विभाग ने इस स्थिति से निपटने के लिए तत्काल भर्ती करने की सिफारिश की है। इसी के आधार पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 50 हजार पुलिस कर्मचारियों को तुरंत भर्ती किए जाने के आदेश दिए हैं।

होमगार्ड व अन्य विभागों में भर्ती

इसी प्रकार होमगार्ड विभाग में जवानों अलावा विभाग के विभिन्न पदों पर करीब 2200 पदों पर भर्तियां होनी हैं। इसमें बीओ, निरीक्षक, कनिष्ठ सहायक पद पर भी भर्ती की जाएगी। इसी प्रकार पिछले दिनों पंचायत विभाग में भी बड़े स्तर पर भर्तियां शुरू होने जा रही हैं। इन भर्तियों को लेकर पिछले महीने काफी विवाद भी पैदा हुआ था। कहा जा रहा है कि इसी को लेकर अधीनस्थ चयन सेवा आयोग के तत्कालीन अध्यक्ष सीबी पालीवाल ने इन पदों की भर्ती पर पड़ रहे दबाव से ऊबकर इस्तीफा दिया था।

69000 पदों पर होगी शिक्षक भर्ती

उत्तर प्रदेश में 6 जनवरी को परिषदीय विद्यालयों में 69 हजार सहायक अध्यापकों की भर्ती परीक्षा होने वाली है। इसके लिए सोमवार को एडमिट कार्ड जारी कर दिए गए हैंछह जनवरी को प्रस्तावित परीक्षा के लिए 446823 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। इनमें से 16334 आवेदन निरस्त होने के बाद वर्तमान में 430479 अभ्यर्थी बचे हैं।

भर्ती के लिए बनाए गए केन्द्र
विभाग ने प्रदेश भर में कुल 800 परीक्षा केंद्र बनाए हैं. जिनमें प्रयागराज में 105 केंद्र, वाराणसी 35 केंद्र बनाए गए हैं. बता दें कि आगरा में 32000 हजार अभ्यर्थी, लखनऊ में 41448, कानपुर 33383, वाराणसी में 35182 और मेरठ में 38237अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल होंगे. अबकी बार परीक्षा में सतर्कता बरतने के लिए सरकार ने कड़ा बंदोबस्त किया है. अर्ह अभ्यर्थियों को 31 जनवरी को प्रवेश पत्र जारी किए जाएंगे। मंडल मुख्यालय वाले जिलों में होने जा रही परीक्षा के लिए 700 से 750 परीक्षा केंद्र बनने की संभावना है।

दूसरी ओर मुख्यमंत्री ने आदेश दिए हैं कि पूरी भर्ती प्रक्रिया पारदर्शी रखी जाए और इसमें किसी भी प्रकार की बेईमानी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि भर्ती प्रक्रिया में किसी ने बेईमानी की तो उसके खिलाफ ऐसी कार्रवाई की जाएगी कि दूसरे कर्मचारी और अफसर भ्रष्टाचार करने की बात सोचेंगे नहीं।

Anil Ankur Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned