एनजीटी का निर्देश, कुंभ मेले के बाद जमा हुआ कचरा जल्द हटाए योगी सरकार

एनजीटी का निर्देश, कुंभ मेले के बाद जमा हुआ कचरा जल्द हटाए योगी सरकार

Neeraj Patel | Publish: Apr, 24 2019 04:19:53 PM (IST) | Updated: Apr, 24 2019 04:19:54 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) ने यूपी की योगी सरकार को इलाहाबाद में कुंभ मेले के बाद जमा हुए ठोस कचरे को 26 अप्रैल से पहले हटाने के कड़े निर्देश जारी किए हैं।

लखनऊ. राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) ने यूपी की योगी सरकार को इलाहाबाद में कुंभ मेले के बाद जमा हुए ठोस कचरे को 26 अप्रैल से पहले हटाने के कड़े निर्देश जारी किए हैं। इससे पहले एनजीटी के पास एक रिपोर्ट आई थी कि इलाहाबाद के कुछ सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट में दूषित जल इतना जमा हो गया है कि केवल 50 प्रतिशत ही दूषित पानी का शोधन हो पा रहा है और 50 प्रतिशत दूषित पानी ऐसे ही गंगा में छोड़ दिया जा रहा है। जिससे शहर में महामारी फैलने की संभावना बढ़ सकती है। इसी रिपोर्ट के आधार पर एनजीटी ने योगी सरकार को कुंभ मेले के बाद जमा कचरे को हटाने के निर्देश देने का फैसला लिया हैं।

एनजीटी ने यूपी के मुख्य सचिव को निर्देश दिया है कि इलाहाबाद में कुंभ मेले के बाद जमा हुए ठोस कचरे को निपटाने के लिए तत्काल क़दम उठाए जाएं और इस संबंध में अधिकारियों की जवाबदेही भी तय की जाए। जस्टिस अरुण टंडन की अध्यक्षता वाली समिति की रिपोर्ट पर संज्ञान लेते हुए एनजीटी ने कहा कि क्षेत्र में स्थिति ख़तरनाक है और इससे तत्काल निपटाया जाए जिससे शहर में महामारियों को फैलने से रोका जा सके।

एनजीटी ने यह निर्देश जस्टिस अरुण टंडन की एक रिपोर्ट का परीक्षण करने के बाद ही जारी किया है। जिसमें कहा गया कि इलाहाबाद के अरैल क्षेत्र में नदी के बहुत नज़दीक बड़ी संख्या में शौचालय का निर्माण कराया गया है। इससे पहले एनजीटी ने उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को इलाहाबाद में कुंभ मेले के दौरान पर्यावरण पर नज़र रखने का भी निर्देश दिया था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned