10 फीसदी महंगी हुई निजी पुलिस सुरक्षा

10 फीसदी महंगी हुई निजी पुलिस सुरक्षा

Akansha Singh | Publish: May, 11 2019 12:41:17 PM (IST) | Updated: May, 11 2019 12:41:18 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

पढ़िये प्रदेश की प्रमुख खबरें...

लखनऊ. गृह विभाग ने निजी व्यय पर सुरक्षा की दरें एक अप्रैल से बढ़ा दी हैं। लोगों को निजी खर्च पर गनर और शेडो पाने के लिए 10 फीसदी ज्यादा कीमत चुकानी होगी। 10 फीसदी निजी व्यय की स्थिति में संबंधित पुलिसकर्मी के वेतन का 10 फीसदी हिस्सा सुरक्षा पाने वाले से वसूला जाएगा, जबकि 90 फीसदी हिस्सा सरकार देगी। नई दरों के मुताबिक, धनाढ्य लोगों को अब अपनी सुरक्षा के लिए प्रतिमाह एक हजार से दस हजार रुपये तक ज्यादा चुकाने होंगे। पढ़िये प्रदेश की अन्य प्रमुख खबरें...

ऑफिस में शराब पी रहे बिजली विभागर के दो कर्मचारी निलंबित

डालीगंज डिवीजन ऑफिस में शाम होते ही कर्मियों द्वारा शराब पीने का मामला चर्चा में आ गया। फोटो वायरल होते ही अफसर शर्मिदा हो गए और दोनों कर्मियों को तत्काल निलंबित कर दिया। यही नहीं पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं, आखिर शाम सात बजे के बाद आफिस में क्या होता था?अधिशासी अभियंता एमपी सिंह ने बताया कि फोटो में कार्यालय सहायक द्वितीय आशीष तिवारी और टीजी टू अभ्यास द्वारा कार्यालय में ही शराब पीने की फोटो वायरल हुई। मौके पर पहुंचकर जब इसकी पुष्टि की गई तो मामला सही पाया गया। प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए दोनों कर्मियों को निलंबित करने की संस्तुति की गई है। भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो उसके लिए ठोस इंतजाम किए जाएंगे।

ग्राम न्यायालयों के लिए 72 पदों के सृजन को मंजूरी

प्रदेश सरकार ने सूबे की नौ तहसीलों में स्थापित किए गए ग्राम न्यायालयों के लिए 72 पदों के सृजन को मंजूरी दे दी है। यह पद वर्ष 29 फरवरी, 2020 तक के लिए सृजित किए गए हैं। प्रमुख सचिव न्याय दिनेश कुमार सिंह द्वितीय द्वारा जारी शासनादेश में इनकी जानकारी दी गई है। प्रमुख सचिव न्याय ने इस संबंध में इलाहाबाद हाईकोर्ट के महानिबंधक को भी अवगत करा दिया है। साथ ही संबंधित जिलों के डीएम और डीजे को भी जानकारी दे दी गई है। जहां ग्राम अदालतें स्थापित की गई हैं, उनमें बलिया में सिकंदरपुर, बाराबंकी में फतेहपुर, बरेली में मीरगंज, बस्ती में भानपुर, फर्रुखाबाद में अमृतपुर, जौनपुर में बदलापुर, पीलीभीत में पूरनपुर, उन्नाव में बांगरमऊ और अंबेडकरनगर में जलालपुर शामिल हैं।

5 हजार स्वास्थ्य उपकेन्द्रों में बढ़ेंगी सुविधाएं

घर के नजदीक ही स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से प्रदेश के पांच हजार नए उपकेन्द्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के रूप में उच्चीकृत किया जाएगा। इसके तहत सबसे पहले सभी आकांक्षी जिलों के 75 फीसदी उपकेन्द्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के रूप में उच्चीकृत किया जाना है। हीमोग्लोबिन, टीएलसी, डीएलसी, ब्लड ग्रुप, पेशाब द्वारा गर्भ की जांच, अल्बोमिन व ग्लूकोज की जांच, मलेरिया, फाइलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, हेपेटाइटिस, बलगम, टाइफाइड आदि की जांच की सुविधा हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर होगी।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned