30 फीसदी से भी कम रिजल्ट लाने वालों को जारी हुआ नोटिस, सुधार न होने पर कार्रवाई के आदेश

माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा में खराब प्रदेशन करने वाले विद्यालयों को चिन्हित कर नोटिस जारी किया गया है

By: Karishma Lalwani

Updated: 26 Aug 2020, 10:17 AM IST

लखनऊ. माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा में खराब प्रदेशन करने वाले विद्यालयों को चिन्हित कर नोटिस जारी किया गया है। इसमें 30 फीसदी से भी कम रिजल्ट लाने वाले संस्थानों को जिलाधिकारी की ओर से नोटिस जारी किया गया है। नोटिस जारी कर आगाह किया गया है कि अगर लापरवाही की गई और बोर्ड परीक्षा के रिजल्ट में सुधार न हुआ तो इन संस्थानों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। जिलाधिकारी के निर्देशानुसार चिन्हित किए गए सभी संस्थानों नजर रखी जाएगी और पल-पल की रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को भेजी जाएगी। विद्यार्थियों की पढ़ाई में इन्होंने अब अगर लापरवाही की तो इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। जिलाधिकारी के निर्देशों के बाद जिला विद्यालय निरीक्षक ने सभी संस्थानों को निर्देश दिए हैं।

बेहतर हो रिजल्ट

जिले में 10 कॉलेज ऐसे हैं जिसमें 100 से अधिक छात्र-छात्राओं ने बोर्ड की परीक्षा दी, लेकिन इनका परिणाम 30 फीसदी से भी कम रहा। वहीं 42 संस्थान ऐसे हैं जिसमें छात्र-छात्राओं की संख्या 100 से भी कम रही और इनका रिजल्ट 30 फीसदी से ऊपर नहीं बढ़ पाया। जिसके बाद इन सभी संस्थानों को चिन्हित करके जिलाधिकारी की ओर से नोटिस दिया गया है। निर्देश दिए गए हैं कि महामारी काल में विद्यार्थियों को ऑनलाइन तरीके से अच्छी से अच्छी शिक्षा दी जाए, जिससे कि आगामी बोर्ड परीक्षा में इनका रिजल्ट बेहतर हो सके।

ये भी पढें: 70 हजार से अधिक कैदियों का कोरोना टेस्ट, 1690 पाए गए संक्रमित

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned