scriptOld man made a record of the sun continuously naked eye | रिटायर्ड शख्स ने नंगी आंखों से लगातार एक घंटे तक सूरज को देखने बनाया रिकॉर्ड, जानिए किसने किया यह कारनामा | Patrika News

रिटायर्ड शख्स ने नंगी आंखों से लगातार एक घंटे तक सूरज को देखने बनाया रिकॉर्ड, जानिए किसने किया यह कारनामा

भगवान श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा में शनिवार को नंगी आंखों से लगातार एक घंटे तक सूरज को देखने का नया रिकॉर्ड बना है। यह रिकॉर्डधारी और कोई नहीं बल्कि एक 70 साल के बुजुर्ग शख्स हैं। पिछले 25 सालों से लगातार यह कारनामा कर रहे एमएस वर्मा डिप्टी कमिश्नर सेल टैक्स के पद से रिटायर हो चुके हैं। इससे पहले नंगी आंखों से 10 मिनट तक सूरज देखने का पिछला रिकॉर्ड प्रदीप बेलगावी के नाम पर दर्ज हैं।

लखनऊ

Updated: November 27, 2021 08:01:20 pm

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मथुरा में एक सेवानिवृत्त 70 साल के वृद्ध शख्स ने अपनी नंगी आंखों से बिना पलक झपकाएं लगातार एक घंटे तक सूरज को देखने का नया रिकॉर्ड बनाया है। इससे पहले 21 जनवरी 2019 को पिछला रिकॉर्ड प्रदीप बेलगावी ने 10 मिनट लगातार सूरज को देखने का बनाया था। नंगी आंखों से लगातार सूरज देखने की इस क्रिया को 'त्राटक क्रिया' के नाम पर भी जाना जाता है। वृद्ध शख्स ने रिकॉर्ड ग्लोबल रिसर्च फाउंडेशन की टीम और सरकारी चिकित्सक की मौजूदगी में बनाया है। 70 वर्षीय डिप्टी कमिश्नर सेल टैक्स के पद से सेवानिवृत्त एमएस वर्मा अपने इस रिकॉर्ड गिनीज बुक रिकॉर्ड में दर्ज कराने की तैयारी कर कर रहे हैं।
mathura.jpg
पिछले 25 सालों से लगातार कर रहे हैं क्रिया

भगवान श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा में शनिवार को नंगी आंखों से लगातार एक घंटे तक सूरज को देखने का नया रिकॉर्ड बना है। यह रिकॉर्डधारी और कोई नहीं बल्कि एक 70 साल के बुजुर्ग शख्स हैं। पिछले 25 सालों से लगातार यह कारनामा कर रहे एमएस वर्मा डिप्टी कमिश्नर सेल टैक्स के पद से रिटायर हो चुके हैं। इससे पहले नंगी आंखों से 10 मिनट तक सूरज देखने का पिछला रिकॉर्ड प्रदीप बेलगावी के नाम पर दर्ज हैं।
ग्लोबल रिसर्च फाउंडेशन की टीम, सरकारी चिकित्सक की मौजूदगी बनाया रिकॉर्ड

एमएस वर्मा ने ग्लोबल रिसर्च फाउंडेशन की टीम और सरकारी चिकित्सक की मौजूदगी में यह रिकॉर्ड बनाया है। एक घंटे तक नंगी आंखों को देखने के बाद जब चिकित्सकों ने एमएस वर्मा की आखों का परीक्षण किया, चिकित्सक ने उनकी आंखों को एकदम सही पाया। एमएस वर्मा को उनकी इस उपलब्धि के लिए मथुरा के साहित्यकारों सहित कई गणमान्य नागरिकों ने बधाई भी दी है। राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाने के बाद एमएस वर्मा गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में रिकॉर्ड दर्ज कराने के लिए तैयारी करेंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.