scriptOne Month Program of School of Ram will be Launched on Ramnavmi | रामचरितमानस की प्रासांगिकता को समझाएगा स्कूल ऑफ राम, रामनवमी के अवसर पर एक माह के कार्यक्रम का होगा शुभारंभ | Patrika News

रामचरितमानस की प्रासांगिकता को समझाएगा स्कूल ऑफ राम, रामनवमी के अवसर पर एक माह के कार्यक्रम का होगा शुभारंभ

School of Ram- स्कूल ऑफ राम के संस्थापक संयोजक प्रिंस तिवाड़ी कहते हैं कि श्रीरामचरितमानस में निरूपित जीवन-व्यवस्था एक आदर्श समाज व आदर्श राज्य की कोरी कल्पना मात्र न होकर पूर्णतः अनुभवगम्य और व्यावहारिक है।

लखनऊ

Updated: April 06, 2022 03:37:51 pm

गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित श्रीरामचरितमानस केवल भक्तिमार्ग के साधकों का भाव ही पुष्ट नहीं करती, बल्कि उनका आध्यात्मिक, सामाजिक व व्यवाहरिक जीवन का मार्गदर्शन भी करती है। एक सम्पूर्ण व्यावहारिक जीवन दर्शन को समेटे हुए यह एक ऐसा ग्रन्थ है जिसने हम संसारी जीवों के व्यक्तिगत, पारिवारिक, सामाजिक और राजनैतिक जीवन के विभिन्न अंगों के लिए आदर्श स्थापित किया है। इसी तर्ज पर स्कूल ऑफ राम रामनवमी के अवसर पर एक माह के प्रमाणपत्रीय कार्यक्रम का शुभारंभ होगा। स्कूल ऑफ राम के संस्थापक संयोजक प्रिंस तिवाड़ी कहते हैं कि श्रीरामचरितमानस में निरूपित जीवन-व्यवस्था एक आदर्श समाज व आदर्श राज्य की कोरी कल्पना मात्र न होकर पूर्णतः अनुभवगम्य और व्यावहारिक है।
One Month Program of School of Ram will be Launched on Ramnavmi
One Month Program of School of Ram will be Launched on Ramnavmi
इस ग्रन्थ के माध्यम से गोस्वामी ने परस्पर स्नेह-सम्मान के साथ कर्त्तव्य-परायणता के माध्यम से न केवल जीवन को समृद्ध-सुखी बनाने में असंख्य-अप्रतिम योगदान दिया है बल्कि मानस के पात्रों के माध्यम से ढेरों सामाजिक कुरीतियों के उन्मूलन में अभूतपूर्व कार्य किया है।
यह भी पढ़ें

200 विधानसभाओं में बनेंगे गो अभ्यारण्य, दूध, गोबर और गोमूत्र की होगी बिक्री, हजारों को मिलेगा रोजगार

रामनवमी पर शुरू होगा एक माह का कार्यक्रम

स्कूल ऑफ राम इस रामनवमी के अवसर पर "आधुनिकत संदर्भ में रामचरितमानस की प्रासांगिकता" नामक एक माह के प्रमाणपत्रीय कार्यक्रम का शुभारंभ करने जा रहा है। 19 अप्रैल से इसकी कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। इस कोर्स में गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित रामचरितमानस और वर्तमान जीवन व आधुनिक युग में उसकी उपयोगिता को समझाया जाएगा। स्कूल ऑफ राम द्वारा इस कोर्स में प्रतिभागिता का शुल्क 51 रुपये रखा गया है।
यह भी पढ़ें

राशन की दुकान पर बनेगा हेल्थ कार्ड, 5 लाख रुपए तक का मिलेगा मुफ्त इलाज

रामचरितमानस के विषय में निम्न जानकारी प्राप्त करेंगे विद्यार्थी

1. आधुनिकता का अर्थ, अवधारणा एवं उसकी परिभाषा
2. रामचरितमानस में आधुनिकता
3. रामचरितमानस में वर्णित समन्वय पक्ष की आधुनिक परिवेश में उपादेयता
4. भावनात्मक,सगुण-निर्गुण,श्रेष्ठ-अश्रेष्ठ कुल,शास्त्र और लोक,व्यक्ति
और समष्टि,व्यक्ति और परिवार,राजा और प्रजा आदि का समन्वय
5. आधुनिक संदर्भ में मानस और मानसकार की प्रासंगिकता
6. आधुनिक परिवेश और मानस के पात्र
7. मानसकार की आधुनिकता
इस कोर्स का महत्व बताते हुए स्कूल ऑफ राम के संस्थापक प्रिंस ने बताया कि गोस्वामी तुलसीदास इसलिए भी सच्चे अर्थों में आधुनिक कहे जा सकते हैं कि उन्होंने केवल निषेध-पक्ष में ही आधुनिकता को स्वीकार नहीं किया। केवल विघटन, निराशा, कुण्ठा और अनास्था के चार घोड़ों के रथ पर ही उन्होंने जन-जीवन को सवार नहीं किया। उन्होंने एक और हासोन्मुखी का उल्लेख किया और दुसरी और ऐसे आदर्शों का संकेत भी किया जिसके सहारे युग-जीवन का युगनिर्माण हो सकता है। भारत पुनः विश्वगुरु हो सकता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: वडोदरा में आधी रात को देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात, सुबह पहुंचे गुवाहाटीMaharashtra Political Crisis: शिंदे गुट के दीपक केसरक का बड़ा बयान, कहा- हमें डिसक्वालीफिकेशन की दी जा रही हैं धमकीMaharashtra Politics Crisis: शिवसेना की कार्यकारिणी बैठक खत्म, जानें कौन-कौन से प्रस्ताव हुए पारितTeesta Setalvad detained: तीस्ता सीतलवाड़ को गुजरात ATS ने लिया हिरासत में, विदेशी फंडिंग पर होगी पूछताछकर्नाटक में पुजारियों ने मंदिर के नाम पर बनाई फर्जी वेबसाइट, ठगे 20 करोड़ रुपएAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैMaharashtra Political Crisis: वडोदरा में देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात- रिपोर्ट'अग्निपथ' के विरोध में तेलंगाना के सिकंदराबाद में ट्रेन में आग लगाने वालों की वायरल हो रही वीडियो, पुलिस ने पहचान कर किया गिरफ्तार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.