यूपी में प्याज के दामों में आई भारी गिरावट, दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ लगती हैं लम्बी लाइनें, जानें कीमत

- सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने वालों को नहीं मिल रहा सामान
- लॉकडाउन खत्म होने के बाद प्याज की कीमत बढ़ने का लोगों को सता रहा डर

By: Neeraj Patel

Updated: 19 Apr 2020, 10:21 AM IST

पत्रिका ग्राउंड रिपोर्ट

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में प्याज की नई फसल आने के बाद प्याज के दामों में भारी गिरावट आई हैं। प्रदेश में प्याज के दामों में कमी आने के कारण आम लोगों ने राहत की सांस ली है। लॉकडाउन में व्यापारियों ने तो प्याज के दामों में वृद्धि करने की कोशिश तो की थी लेकिन प्रदेश सरकार के द्वारा सब्जियों के दामों की सूची जारी करने के बाद वह प्याज के दामों में ज्यादा वृद्धि नहीं कर सके।

लखनऊ के विकास नगर में रहने वाले उज्जवल यादव ने बताया है कि जब सुबह वह बाजार में सब्जी लेने गए तो प्याज मात्र 30 रुपए प्रति किलो मिली है। लेकिन आलू पहले 20 रुपए प्रति मिलता था जो कि अब 30 रुपए प्रति किलो मिल रहा है। इसके साथ ही दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है। और जो लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं उन्हें दुकानदार सब्जियां नहीं दे रहे है। और वह लोगों को जागरूक कर रहे है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करो और आराम से सब्जियां खरीदो। साथ ही बताया कि सब्जी विक्रेता का कहना है कि कोल्ड स्टोर में रखने से आलू के दाम बढ़ गए हैं। आलू की फसल कमजोर होने के कारण आलू के दाम बढ़ गए हैं।

सर्दी के मौसम में आसमान छू रहे थे प्याज के दाम

बता दें कि इसके तीन माह पहले सर्दी के मौसम में प्याज के बढ़ते दामों ने लोगों को बेचैन कर दिया था। तीन माह पहले तो प्याज की कीमत 120 प्रति किलों से ऊपर भी पहुंच चुकी थी। जिसके चलते आम लोगों के प्याज खाना कम कर दिया था। लेकिन अब प्याज की कीमतों में भारी गिरावट के लोगों के चेहरों पर फिर से मुस्कान फिर से वापस आ गई है। ऐसे में लोगों के मन में ये सावल खड़ा हो रहा है कि क्या लॉकडाउन खत्म होने के बाद प्याज को दामों में फिर से बढ़ोत्तरी तो नहीं हो जाएगी।

लॉकडाउन के चलते सब्जी बाजार में देखा जा रहा है कि लोगों ने प्याज की कीमत 30 रुपए प्रति किलो होने से भारी मात्रा में प्याज खरीदना शुरू कर दिया है उन्हें यह डर सता रहा है कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद कहीं प्याज के दाम से न बढ़ जाए। इसलिए लोगों ने अभी से प्याज का स्टॉक करना शुरू कर दिया है। लोगों का कहना है कि प्याद गर्मी के सीजन में कितने भी महीने अन्दर रखी रहे लेकिन वह खराब नहीं होती है। इसलिए लोग कम दामों में ज्यादा प्याज खरीद रहे है।

 

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned