शराब की ऑनलाइन डिलीवरी की बढ़ी मांग, रेस्टोरेंट और होटलों ने की अपील, सुप्रीम कोर्ट ने होम डिलीवरी पर राज्य सरकार से मांगा जवाब

उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन के दरम्यान शराब की बिक्री पर अनुमति देने के बाद अब देशभर के होटल और रेस्तरां मालिकों ने राज्य सरकारों से शराब की ऑनलाइन डिलीवरी की मांग की है

By: Karishma Lalwani

Published: 10 May 2020, 04:58 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन के दरम्यान शराब की बिक्री पर अनुमति देने के बाद अब देशभर के होटल और रेस्तरां मालिकों ने राज्य सरकारों से शराब की ऑनलाइन डिलीवरी (Online Delivery of wine) की मांग की है। रेस्तरां और होटलों ने राज्य सरकारों से कहा है कि उन्हें शराब के स्टॉक को बेचने की अनुमति दी जाए। इसी तरह यूपी में भी शराब को ऑनलाइन बेचने की मांग की जा रही है।

दरअसल, लॉकडाउन की वजह से रेस्टोरेंट्स और होटलों के पास करीब 3,000 करोड़ रुपये की शराब का स्टॉक है। भारतीय राष्ट्रीय रेस्तरां संघ के अध्यक्ष अनुराग कटरियार ने कहा कि हम इस समय काफी आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। हमारे पास एक तरफ महंगी शराब का स्टॉक जमा है, वहीं हमारे सामने नकदी का भी संकट खड़ा हो गया है। उन्होंने यूपी समेत सभी राज्य सरकारों से अपील की है कि उन्हें शराब के जमा स्टॉक को बेचने की अनुमति दी जाए।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, होम डिलीवरी हो शुरू

शराब की बिक्री को अनुमति मिलने के बाद दुकानों पर भारी भड़ देकने को मिलती है। ऐसे में भीड़ को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से शराब की होम डिलीवरी करने पर विचार करने को कहा है। बेंच की अध्यक्षता कर रहे जस्टिस अशोक भूषण ने कहा है कि इसे लेकर कोई आदेश पारित नहीं किया जा रहा है। लेकिन राज्य सरकारों को होम डिलीवरी करने और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने पर जरूर विचार करना चाहिए। वहीं, इस मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। अदालत में दायर जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने इस संबंध में सरकार को 12 मई तक जवाब दाखिल करने का निर्देश जारी किया है।

Show More
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned