scriptPanchayati Raj Minister Bhupendra singh Suspend Officer for corruption | मंत्री की बड़ी कार्रवाई से पंचायती राज विभाग में हड़कंप, एक झटके में एक-दो नहीं नाप दिए इतने अधिकारी | Patrika News

मंत्री की बड़ी कार्रवाई से पंचायती राज विभाग में हड़कंप, एक झटके में एक-दो नहीं नाप दिए इतने अधिकारी

UP News: उरई में पंचायतीराज मं6ई ने निरीक्षण किया तो अधिकारियों की लापरवाही और भ्रष्टााचर देखकर भड़क उठे। एक झटके में एक दो नहीं बल्कि इतने अफसरों-कर्मचारियों को नाप दिया।

लखनऊ

Updated: June 13, 2022 05:22:24 pm

पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह के निरीक्षण में उरई पंचायत सचिव समेत चार कर्मचारियों पर गिरी निलंबन की गाज के लिए डीपीआरओ को जिम्मेदार माना जा रहा है। उनकी लचर कार्यप्रणाली से लेकर खाऊ कमाऊ रवैए के चलते जनपद में स्वच्छता अभियान से लेकर महत्वपूर्ण योजनाए चौपट हो गई हैं और ज्यादातर निजी स्वास्थ्य संवर्धन के लिए काम किया जा रहा है।
Panchayati Raj Minister Bhupendra singh Suspend Officer for corruption
Panchayati Raj Minister Bhupendra singh Suspend Officer for corruption
करीब एक साल पहले जिला पंचायत राज अधिकारी डॉ अवधेश सिंह ने जिले का चार्ज संभाला था। तब से पंचायती राज विभाग के माध्यम से चलाए जा रहे स्वच्छता भारत मिशन जैसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम चौपट हो गए हैं। ज्यादातर गांव में सफाईकर्मी ड्यूटी के नाम पर सिर्फ खानापूरी कर रहे हैं और जुगाड़तंत्र से वेतन की निकासी भी की जा रही है। यही नहीं जिले भर की पंचायतों में जो सामुदायिक शौचालय बनाए गए उनका कोई उपयोग नहीं किया जा रहा और ज्यादातर योजनाएं कागजों तक ही सिमट कर रह गई हैं।
यह भी पढ़ें

यूपी हिंसाः अब तक 325 गिरफ्तार, पत्थरबाजों की कार्रवाई पर बुआ-बबुआ का छलका दर्द

शौचालयों के निर्माण में भ्रष्टाचार

पंचायत सचिवालयों व सामुदायिक शौचालयों के निर्मांण में भी जमकर भ्रष्टाचार हुआ लेकिन डीपीआरओ ने आंखे मूंदे रखीं। अपने कार्यालय में वह अधिकांश प्रधान व सचिवों से ही सेटिंग गेटिंग में मशगूल रहते हैं और ग्राम पंचायतों का नियमित निरीक्षण न किए जाने से हालत खराब हैं। इसके पहले भी उनको एक कार्यक्रम के दौरान पूर्व जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन की तगड़ी फटकार का सामना करना पड़ा था जब उन्होंने बिना डीएम की अनुमति के कार्यक्रम में महिला कलाकारों से नृत्य कार्यक्रम शुरू करा दिया था।
डांट के बावजूद नहीं सुधार

कई बार उच्चधिकारियों की डांट फटकार का सामना करने के बाद भी उनकी कार्यप्रणाली में कोई सुधार नहीं हुआ। इसका नतीजा गिरथान गांव में मिली अव्यवस्थाओं के कारण मंत्री के कोप भोजन का शिकार कर्मचारियों को निलंबन के रूप में भुगतना पड़ा। पहली बार हुई बड़ी कार्रवाई से विभाग में हड़कंप मचा है और डीपीआरओ को भी सख्त चेतावनी दी गई है लेकिन सुधार होता नहीं दिख रहा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Crisis: क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया के फॉर्मूले जैसा ही एकनाथ शिंदे गुट को लाने की तैयारी में बीजेपी, समझें क्या है पार्टी का प्लान बीMaharashtra: ईडी के समन पर संजय राउत ने कसा तंज, बोले-ये मुझे रोकने की साजिश, हम बालासाहेब के शिवसैनिकPresidential Election: यशवंत सिन्हा ने भरा नामांकन, राहुल गांधी-शरद पवार समेत विपक्ष के कई बड़े नेता मौजूदPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- सभी जिलों में बनाए जाएंगे साइबर अपराध क्राइम कंट्रोल रूमपटना विश्वविद्यालय के हॉस्टलों में छापेमारी, मिला बम बनाने का सामानMumbai News Live Updates: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बागी मंत्रियों के छीने विभागMaharashtra Political Crisis: आदित्य को छोड़ शिवसेना के सारे MLA Minister हुए बागी, उद्धव ठाकरे के साथ बचे सिर्फ MLC मंत्रीयशवंत सिन्हा को समर्थन देगी TRS, क्या BJP के खिलाफ विपक्ष से हाथ मिला रहे KCR?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.