scriptPassengers with disabilities will also be able to travel in Rajdhani buses. | अब यात्री 16 दिसम्बर से एसी बसों में 10 प्रतिशत कम किराया देकर कर सकेंगे यात्रा, आया आदेश | Patrika News

अब यात्री 16 दिसम्बर से एसी बसों में 10 प्रतिशत कम किराया देकर कर सकेंगे यात्रा, आया आदेश

locationलखनऊPublished: Dec 12, 2023 07:44:41 pm

Submitted by:

Ritesh Singh

28 फरवरी, 2024 तक किराये में छूट का प्राविधान, वातानुकूलित सेवाओं को लाभप्रद बनाने में करेगा मदद.

28 फरवरी, 2024 तक किराये में छूट का प्राविधान
28 फरवरी, 2024 तक किराये में छूट का प्राविधान
सर्दियों में बस यात्रियों को वातानुकित बसों में सफर का लाभ देने के लिए योगी सरकार ने किराए में 10 प्रतिशत छूट का निर्णय किया है। यात्री 16 दिसंबर 2023 से वातानुकूलित बसों में इस छूट का लाभ ले सकेंगे। 16 दिसंबर, 2023 से 28 फरवरी, 2024 तक किराए में स्पेशल विंटर डिस्काउंट के रूप में छूट प्रदान की गई है।
कम आवागमन को देखते हुए लिया निर्णय
उत्तर प्रदेश के परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दयाशंकर सिंह ने बताया कि यात्रियों को परिवहन निगम द्वारा संचालित वातानुकूलित बसों में भी शीतकाल के दौरान 10 प्रतिशत कम किराया देकर यात्रा करने की सुविधा उपलब्ध होगी। उन्होंने कहा कि शीतकाल प्रारम्भ होने पर वातानुकूलित सेवाओं में यात्रियों के कम आवागमन को देखते हुए वातानुकूलित बसों का किराया कम किया जा रहा है।
परिवहन मंत्री ने बताया कि वातानुकूलित 3×2 बसों का किराया अब 1.47 प्रति किमी प्रति सीट होगा। इसी प्रकार वातानुकूलित 2×2 बसों का किराया 1.74 रुपया, वातानुकूलित शयनयान बसों का किराया 2.33 रुपए एवं वाल्बो (हाई एण्ड) का किराया 2.58 रुपए प्रति किमी प्रति सीट होगा। उन्होंने कहा कि वातानुकूलित सेवाओं को लाभप्रद बनाए जाने के उद्देश्य से सम्यक विचारोपरान्त यह निर्णय लिया गया है। शीतकाल में ईंधन खपत में कमी आती है। साथ ही साथ लोड फैक्टर भी अधिक किराया होने की वजह से कम हो जाता है।
राजधानी बसों में दिव्यांगों को मिलेगी यात्रा सुविधा
परिवहन मंत्री ने कहा कि संज्ञान में आया है कि दिव्यांगजनों को नई संचालित राजधानी सेवा में यात्रा सुविधा अनुमन्य नहीं है। उन्होंने परिवहन निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए कि राजधानी सेवा की बसों में भी यात्रा सुविधा उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि राजधानी सेवा की बसों का किराया अब सामान्य बसों के समतुल्य कर दिया गया है। इसलिए राजधानी सेवा की बसों में भी साधारण बसों की भांति दिव्यांगजनों को परिवहन सुविधा दी जाए।

ट्रेंडिंग वीडियो