15 जनवरी को यूपी बोर्ड के परीक्षा केंद्रों का जाएजा लेगी ये टीम

15 जनवरी को यूपी बोर्ड के परीक्षा केंद्रों का जाएजा लेगी ये टीम

Prashant Srivastava | Publish: Jan, 14 2018 09:44:11 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

यूपी बोर्ड की परीक्षाएं नकलवहीन करवाने के लिए प्रशासन ने कमर कस ली है।

लखनऊ. यूपी बोर्ड की परीक्षाएं नकलवहीन करवाने के लिए प्रशासन ने कमर कस ली है। डीआईओएस के नेतृत्व वाली टीम 15 जनवरी को परीक्षा केंद्रों का जायजा लेगी। इस दौरान परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों की जांच, फर्नीचर, बिजली-पानी की व्यवस्था, शौचालय, कॉलेज कैंपस की बाउंड्रीवॉल के अलावा अन्य हिस्सों को भी बारीकी से जांचा जाएगा। यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा 6 फरवरी से राजधानी के 136 परीक्षा केंद्रों पर होगी।

यूपी बोर्ड परीक्षा से पहले तैयारियों की होगी समीक्षा

बोर्ड निर्देशों के अनुसार परीक्षा के दौरान किसी भी तरह की लापरवाही सामने आई तो फौरन कार्रवाई की जाएगी। यही नहीं, नकलविहीन परीक्षा में गड़बड़ी करने वाले के खिलाफ सीधे तौर पर एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। परिचय पत्र समेत शिक्षकों का ब्योरा परीक्षा कार्यालय में जमा किया जा रहा है। इसके आधार पर विभाग सभी शिक्षकों को विशेष कोड जारी करेगा। इस कोड से ही ड्यूटी करने वाले शिक्षक पहचाने जाएंगे। यह कोड विभाग के साथ ही शिक्षक के परिचय पत्र पर भी अंकित होगा। बोर्ड परीक्षा में निरीक्षण के समय कोड देखकर ही शिक्षक का पूरा ब्योरा सामने आ जाएगा।

इस बार ड्यूटी करने वाले शिक्षकों की कोडिंग की जा रही है-

विभाग ने शिक्षकों की परीक्षा ड्यूटी लगाने की प्रक्रिया में भी बदलाव किया है। विभाग खुद ही शिक्षकों की ड्यूटी दूसरे कॉलेज में लगाएगा। गत परीक्षा तक परीक्षा केंद्रों को कक्ष निरीक्षकों के संख्या की सूची दे दी जाती थी और वे स्वयं फोन कर शिक्षकों को बुलाते थे। लेकिन इस बार विभाग परीक्षकों की ड्यूटी के लिए खुद ही कॉलेज तय कर रहा है।

वहीं इस बार जिन स्कूलों को परीक्षा केंद्र बनाया गया है, वहां के शिक्षकों को ड्यूटी के लिए दूसरे परीक्षा केंद्रों पर नहीं भेजा जाएगा। परीक्षा केंद्र के शिक्षकों को निरीक्षण दल में शामिल किया जाएगा। गत बोर्ड परीक्षा में एस पब्लिक स्कूल कुराखर, आरबीएम इंटर कॉलेज लोनापुर में जिस विषय की परीक्षा थी, उसी विषय के शिक्षक परीक्षा कक्ष में ड्यूटी करते मिले थे। वहीं आरबीएम इंटर कॉलेज में एक परीक्षक फर्जी परिचय पत्र के साथ पकड़ा गया था।

 

Ad Block is Banned