भारत में बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल के दाम तो क्या हुआ नेपाल से खरीद लेंगे

भारत में बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल के दाम तो क्या हुआ नेपाल से खरीद लेंगे

Mahendra Pratap Singh | Publish: May, 30 2018 12:32:40 PM (IST) | Updated: May, 30 2018 02:17:40 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

बहराइच, महराजगंज और लखीमपुर जिलों से हो रही तेल की तस्करी

 

लखनऊ. बढ़ती पेट्रोल-डीजल की कीमतों से परेशान नेपाल की सीमा से लगे जिलों के लोगों ने नया रास्ता निकाला है। वे भारत सरकार को चुनौती दे रहे हैं। उनका कहना है दाम बढ़ा दीजिए हम डीजल-पेट्रोल नेपाल से खरीद लेंगे। नेपाल सीमा से लगे लखीमपुर खीरी,बहराइच, महाराजगंज और गोरखपुर के लोग हर रोज नेपाल के पेट्रोल पंपों से तेल भराकर सरकार को लाखों का राजस्व नुकसान पहुंचा रहे हैं। तेल तो तेल तमाम भारतीय नेपाली मोबाइल सिम का भी इस्तेमाल कर रहे हैं लेकिन सरकार मौन है।

नेपाल की सीमा से लगे उत्तर प्रदेश और बिहार के इलाकों में बढ़ती पेट्रोल-डीजल कीमतों से यहां के निवासियों पर कोई असर देखने को नहीं मिल रहा। बहराइच, लखीमपुरखीरी और महाराजगंज के लोग नेपाल से पेट्रोल और डीजल खरीद रहे हैं। क्योंकि उन्हें यहां पेट्रोल और डीजल काफी सस्ता मिला रहा है।

नेपाल में कीमतें हैं कम

नेपाल में पेट्रोल का दाम 108 रुपया 50 पैसा नेपाली मुद्रा में हैं। जो भारतीय मुद्रा में 67 रुपया 81 पैसा के बराबर है। जबकि डीजल 90 रुपया 50 पैसा नेपाली मुद्रा में है जो भारतीय मुद्रा में 56 रुपया 56 पैसा प्रति लीटर पड़ता है। जबकि लखनऊ सहित नेपाल की सीमा से सटे जिलों में पेट्रोल 78.81 रुपए और डीजल 69.46 रुपए प्रति लीटर के लगभग है। इस तरह नेपाल के अपेक्षा उप्र में पेट्रोल 12 रुपए और डीजल 13 रुपए के लगभग महंगा है। प्रति लीटर कम से कम 10 रुपए का फर्क होने की वजह से नेपाल सीमा से लगे पेट्रोल पंपों पर इन दिनों सुबह से ही भारतीय गाडिय़ों की भीड़ देखी जा सकती है। नेपाल की खुली सीमा होने के कारण बड़े पैमाने पर मोटरसाइकिल सहित मालवाहक गाडिय़ा नेपाल से पेट्रोल और डीजल भरवाकर ला रही हैं। कुछ लोग तो भारतीय सीमा में फुटकर में डीजल पेट्रोल बेचकर खूब मुनाफा भी कमा रहे हैं। इस बात की पुष्टि नेपाल ऑयल कोर्पोरेशन के अधिकारी भी करते हैं। उनका कहना है कि भारत में पेट्रोल डीजल के दाम अधिक होने से नेपाल के सीमाई इलाकों में 15 से 20 प्रतिशत सेल बढ़ गयी है। पहले भी नेपाल से विभिन्न माध्यमों से डीजल-पेट्रोल की तस्करी होती रही है लेकिन अब यह बढ़ गयी है। चूंकि दोनों देशों की सीमा खुली है इसलिए निजी वाहनों में तेल भरवानें पर कोई प्रतिबंध नहीं है।

इसलिए नेपाल में सस्ता

गौरतलब है कि नेपाल में पेट्रोलियम पदार्थों की सप्लाई भारत से ही होती है। लगभग 250 टैंकर तेल प्रति दिन नेपाल में सप्लाई किया जाता है। लेकिन नेपाल में सिंगल टैक्स सिस्टम है, जबकि भारत में वैट के अलावा कई टैक्स लगाए जाते हैं। इसकी वजह से तेल की कीमतें भारत में ज्यादा है।

अधिकारी अनजान

नेपाल से तेल तस्करी के बारे में जानकारी होने के बावजूद अफसर अनजान बने हुए हैं। सीमा पर तैनात बार्डर पुलिस भी इस खेल में शामिल है। इसलिए वह कुछ नहीं बोलती। लेकिन इससे भारत को रोज लाखों रूपए के राजस्व का नुकसान हो रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned