लखनऊ में सिपाही ने कैदी के बेटे को ही गोली से उड़ाया, बताई ये वजह, खुद थाने जाकर किया सरेंडर

Lucknow News: लखनऊ पुलिस के मुताबिक 2016 बैच का सिपाही आशीष मिश्र काफी लंबे अरसे से सीतापुर पुलिस लाइन में तैनात है। हत्या के बाद उसने खुद ही विभूतिखण्ड थाने जाकर आत्मसमर्पण किया है।

लखनऊ. Lucknow News: राजधानी लखनऊ के लोहिया अस्पताल परिसर में सिपाही ने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। सिपाही सीतापुर के रहने वाले हत्या के आरोपी की सुरक्षा में तैनात था जिसका लोहिया अस्पताल में इलाज चल रहा है। उसी के बेटे की सिपाही ने हत्या कर दी। जानकारी के मुताबिक सीतापुर पुलिस लाइन में तैनात सिपाही हत्या के अभियुक्त की सुरक्षा में तैनात था। अभियुक्त का लखनऊ के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में इलाज चल रहा था। बुधवार को अचानक सिपाही और अभियुक्त के बेटे के बीच कुछ कहासुनी हुई, इसी दौरान सिपाही ने अभियुक्त के बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी।

सिपाही को महसूस हो रहा था जान का खतरा

लखनऊ पुलिस के मुताबिक 2016 बैच का सिपाही आशीष मिश्र काफी लंबे अरसे से सीतापुर पुलिस लाइन में तैनात है। हत्या के बाद उसने खुद ही विभूतिखण्ड थाने जाकर आत्मसमर्पण किया है। उसने बयान दिया है कि ध्रुव कुमार के बेटे प्रवीण से उसे खतरा महसूस हो रहा था इसलिए उसने ऐसा कदम उठाया। उसकी बातों से ऐसा प्रतीत हो रहा है, जैसे वह डिप्रेशन में हो, हालांकि पुलिस पीड़ित परिजनों और सीतापुर पुलिस से पूछताछ कर दूसरे पहलू भी खंगालने की कोशिश कर रही है।

हत्या के अभियुक्त की सुरक्षा में तैनात था सिपाही

वहीं लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर के मुताबिक बदायूं का रहने वाला सिपाही आशीष मिश्रा काफी दिनों से सीतापुर पुलिस लाइन में तैनात है। कुछ दिनों पहले उसे सीतापुर में ही हत्या के अभियुक्त ध्रुव कुमार की सुरक्षा में तैनात किया गया था, जिसका राम मनोहर लोहिया अस्पताल में इलाज चल रहा है। अभियुक्त ध्रुव कुमार के बेटे प्रवीण से सिपाही आशीष मिश्रा की कुछ कहासुनी हुई थी, इसी दौरान अवैध असलहे से सिपाही ने प्रवीण को गोली मार दी। प्रवीण को आनन फानन में अस्पताल के इमरजेंसी में ले जाया गया लेकिन तब तक उसकी मौत हो गयी थी। सिपाही ने खुद ही विभूतिखंड थाने में आत्मसमर्पण किया है।

यह भी पढ़ें: प्री-मानसून बारिश से तरबतर हुआ यूपी, मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट, इन जिलों में होगी अभी और भारी बारिश

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned