फर्जी कंपनी बनाकर लोगों से की 59 करोड़ की ठगी, मास्टरमाइंड अभी भी फरार, दुबई कनेक्शन आया सामने

राजधानी लखनऊ में पुलिस ने फर्जी रियल एस्टेट कंपनी का पर्दाफाश किया। इस मामले में आरोपियों ने करोड़ों रुपयों की ठगी को अंजाम दिया।

लखनऊ. राजधानी लखनऊ में पुलिस ने फर्जी रियल एस्टेट कंपनी का पर्दाफाश किया। इस मामले में आरोपियों ने करोड़ों रुपयों की ठगी को अंजाम दिया। वहीं पुलिस ने इस रैकेट से जुड़े 9 लोगों को भी गिरफ्तार किया है। साथ ही जांच में पता चला है कि इन लोगों के तार दुबई तक जुड़े हुए हैं। राजधानी लखनऊ के गोसाईगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत ये फर्जी कंपनी चल रही थी। लोगों से 59 करोड़ों रुपये की ठगी करने वाली कंपनी का पुलिस ने भंडाफोड़ किया। साथ ही पुलिस ने 9 लोगों को गिरफ्तार भी किया। हालांकि फर्जी कंपनी बनाने वाला और नेटवर्क को फैलाने वाला मास्टरमाइंड हरिओम अभी भी पुलिस की गिरफ्त से फरार है। इसके अलावा अन्य पांच साथी भी पुलिस के हत्थे फिलहाल नहीं चढ़े हैं।

पुलिस ने किया खुलासा

पुलिस के मुताबिक रियल एस्टेट के नाम पर फर्जी कंपनी चलाने वाले ठग लोगों से अपनी फर्जी कंपनी अलास्का रियल एस्टेट में पैसा निवेश करवाते थे और लोगों को आश्वासन देते थे कि उनकी कंपनी एशिया की टॉप-20 ट्रेडिंग करने वाली कंपनियों में एक है। हम लोग जो ट्रेडिंग करते हैं, उससे मिले प्रॉफिट के पैसों को लोगों तक पहुंचाते हैं और 5 फीसदी प्रतिमाह लाभांश ब्याज के तौर पर दिया जाएगा। हालांकि निवेश करवाने के कुछ ही महीनों बाद ये गिरोह ठगी कर लेता था। इस मामले में लखनऊ के डीसीपी साउथ रईस अख्तर ने बताया कि इनका धंधा यूपी के कई जिलों के साथ गुजरात के सूरत तक फैला हुआ था। यह लोग देश के बाहर दुबई तक अपना नेटवर्क फैलाए हुए थे। डीसीपी ने बताया कि अलास्का रियल एस्टेट कंपनी के डायरेक्टर और एजेंट ने मिलकर तकरीबन 59 करोड़ रुपए का लोगों से गबन किया हैय़ इस कंपनी में तकरीबन साढ़े 500 सौ लोगों ने पैसा लगाया था।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned