920 पुलिसकर्मी रोकेंगे बिजली चोरी, 75 जिलों में होगे एंटी पॉवर थेफ्ट थाना

बिजली चोरी रोकने के लिए योगी सरकार का बड़ा कदम

- यूपी के 75 जिलों में बनेंगे एंटी पॉवर थेफ्ट थाने

- 920 पुलिसकर्मी करेंगे बिजली चोरी रोकने में मदद

By: Karishma Lalwani

Updated: 07 Jul 2019, 03:04 PM IST

लखनऊ. यूपी में अब पुलिसकर्मी बड़े पैमाने पर बिजली चोरी रोकेंगे। इसके लिए पावर कॉर्पोरेशन में 920 पुलिसकर्मियों की तैनाती होगी। पॉवर कार्पोरेशन में 10 इंस्पेक्टर, 190 सब-इंस्पेक्टर, 360 हेड कॉन्स्टेबल और 360 कॉन्स्टेबल तैनात किएजाने का आदेश है। पॉवर कार्पोरेशन के चेयरमैन आलोक कुमार के मुताबिक बिजली चोरी रोकने के लिए ड्यूटी पर लगाए जाने वाले पुलिसकर्मियों को अलग थाने में तैनाती दी जाएगी। यह कदम प्रदेशभर में बिजली चोरी रोकने के लिए उठाया गया है।

एंटी पॉवर थेफ्ट थानों में होगी तैनाती

राज्य सरकार ने बिजली चोरी रोकने के लिए 75 जिलों में एंटी पॉवर थेफ्ट थानों के लिए 2050 पदों पर भर्ती की है। इन थानों में कांस्टेबल से लेकर इंस्पेक्टर तक के कर्मचारी तैनात होंगे। 2050 में से 1950 पद थानों के लिए और 100 पद थानों के पर्यवेक्षण, कंट्रोल और स्टाफ रूम के लिए चुने गए हैं। 1950 पदों में से 75 पद इंस्पेक्टर, 675 पद हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल सिविल पुलिस के लिए, 375 पद सिविल पुलिस के लिए और 150 पद और हेड कांस्टेबल (कंसोल ऑपरेटर) के लिए हैं। वहीं 100 पद थानों के पर्यवेक्षण, कंट्रोल व स्टाफ रूम के लिए सृजित किए गए हैं। इनमें से एक पद इंस्पेक्टर, दो पद एसआई सिविल पुलिस, 27 पद हेड कांस्टेबल सिविल पुलिस, 29 पद हेड कांस्टेबल कंसोल ऑपरेटर और 41 पद कांस्टेबल के हैं। थानों व अन्य मदों पर जितना खर्चा आएगा, इसका जिम्मेदारी पॉवर कॉर्पोरेशन उठाएगा।

हर थाने में 28 कर्मचारी तैनात

हर थाने में 28 कर्मचारी तैनात किए जाएंगे। इनमें से एक इंस्पेक्टर, 2 चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी, 5 एसआई, 9 कांस्टेबल और 11 हेड कांस्टेबल शामिल होंगे। इन कर्मचारियों के पास वही पॉवर होगी जो पुलिस ऑफिसर के पास होती है। लेकिन ये कर्मचारी इलेक्ट्रिसिटी एक्ट के अंतर्गत बिजली चोरी से जुड़े मामलों को ही देखेंगे।

पहली बार पॉवर कार्पोरेशन के लिए इतनी बड़ी टीम

अभी तक बिजली विभाग के सामने यह बड़ी समस्या थी कि छापेमारी के दौरान उन्हें पुलिस फोर्स नहीं मिलती थी। बाद में मुकदमा लिखने में भी पुलिस शिथिल रहती थी। ऐसे में बिजली चोरी रोकने के लिए योगी सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। यह पहला मौका है जब पॉवर कार्पोरेशन के लिए इतनी बड़ी पुलिस टीम होगी। इन पुलिसकर्मियों की पॉवर कार्पोरेशन में दो साल तक तैनाती होगी।

ये भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के 1321 फर्जी शिक्षक होंगे बर्खास्त

Show More
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned