बेवजह नहीं रोकेंगे पुलिसवाले, ट्रेफिक नियम तोड़े तभी होगा चालान

-कप्तानों को निर्देश सिर्फ कागज चेक करने के लिए न रोकें वाहन
-हेलमेट न लगाने और सीट बेल्ट न बांधने पर होगी कड़ी कार्रवाई

By: Ruchi Sharma

Updated: 13 Sep 2019, 05:16 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में नए ट्रैफिक नियम के लागू होने के बाद यूपी के यातायात निदेशालय ने एक अहम सर्कुलर जारी किया है। इस नए सर्कुलर से आम वाहन चालकों को राहत मिलने की उम्मीद है। इसके साथ ही राज्य सरकार नए कानून में थोड़ा राहत देने की तैयारी में है। सीट बेल्ट न बांधने और हेलमेट न लगाने पर पही जुर्माना देना होगा जो केंद्र सरकार ने तय किया है लेकिन अन्य अपराधों पर जुर्माने की राशि कम हो सकती है। इस संबंध में जल्द ही कैबिनेट की बैठक में निर्णय लिया जा सकता है।

नए सर्कुलर के मुतबिक,केवल कागजात चेक करने के लिए वाहनों को न रोका जाए। अगर कोई ट्रैफिक नियम तोड़ता दिखे तो उसके कागजात चेक किए जा सकते हैं। इसी तरह बिना हेलमेट, सीट बेल्ट नहीं लगाने वाले, यातायात नियमों और संकेतों को तोडऩे वालों के कागजात चेक किए जा सकते हैं।


बड़े वाहनों की भी हो चेकिंग


नया सर्कुलर यातायात निदेशालय ने प्रदेश के सभी जिला कप्तानों, आईजी, एडीजी के लिए जारी किया गया है। सर्कुलर में कहा गया है कि टू-व्हीलर के साथ ही फोर-व्हीलर आदि बड़े वाहनों की चेकिंग पर भी ध्यान दिया जाए। जो भी यातायात नियमों का उल्लंघन करता है, उसके खिलाफ प्रवर्तन की कार्रवाई निष्पक्ष और पारदर्शी ढंग से की जाए।


मिल सकती है राहत


मोटर व्हीकल एक्ट 2019 के तहत बढ़ाई गई ट्रैफिक चालान की दरों को बीजेपी शासित गुजरात और उत्तराखंड के बाद अब उत्तर प्रदेश में भी कम किया जा सकता है। राज्य का परिवहन विभाग संशोधन प्रस्ताव को तैयार कर रहा है। जल्द ही कैबिनेट बैठक में संशोधन प्रस्ताव को पेश करने की योजना है। अगर मंत्रिमंडल की ओर से इसे मंजूरी मिल गई तो राज्य में जल्द ही ट्रैफिक चालान की नई दरें लागू हो जाएंगी।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned