डाक विभाग ने किया हिन्दी पखवाड़ा आयोजन

राजभाषा हिन्दी के प्रयोग को और अधिक बढ़ाना होगा जो आज की एक बड़ी अनिवार्यता बन गई है।

By: Ritesh Singh

Published: 14 Sep 2020, 07:06 PM IST

लखनऊ , डाक विभाग द्वारा मुख्य पोस्टमास्टर जनरल, उत्तर प्रदेश कार्यालय में हिन्दी पखवाडे़ का शुभारम्भ 14 सितम्बर को हुआ। मंथन सभागार में आयोजित कार्यक्रम में उ.प्र. परिमंडल के मुख्य पोस्टमास्टर जनरल, कौशलेन्द्र कुमार सिन्हा ने माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर इसका शुभारंभ किया। लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ कृष्ण कुमार यादव ने सचिव, डाक विभाग का संदेश पढ़कर लोगों को हिंदी के प्रति प्रेरित किया। निदेशक डाक सेवाएँ (मुख्यालय) मो. शाहनवाज अख्तर ने परिमंडलीय कार्यालय में पखवाड़े भर चलने वाले कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी।

इस अवसर पर मुख्य पोस्टमास्टर जनरल कौशलेन्द्र कुमार सिन्हा ने अपनेे सम्बोधन में कहा कि हिंदी पूरे देश को जोड़ने वाली भाषा है और सरकारी कामकाज में भी इसे बहुतायत में अपनाया जाना चाहिये। हिन्दी हमारी मातृभाषा के साथ-साथ राजभाषा भी है, ऐसे में हम सभी को रोजमर्रा के सरकारी कार्यों में हिन्दी भाषा का प्रयोग करते हुए लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हिन्दी एकमात्र ऐसी भाषा है, जो जैसे लिखी जाती है वैसे ही पढ़ी और बोली जाती है। हिन्दी पखवाड़ा के दौरान डाक विभाग द्वारा मनाये जाने वाले कार्यक्रमों में ज्यादा से ज्यादा डाककर्मियों से भागीदारी की भी अपील की।

लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ कृष्ण कुमार यादव ने इस अवसर पर डाक विभाग के सचिव प्रदीप्त कुमार बिशोई का संदेश पढ़ा, जिसमें उनके द्वारा इस बात पर जोर दिया गया कि डाक विभाग को अपनी नीतियों, योजनाओं एवं कार्यक्रमों का लाभ जन-जन तक पहुँचाने और इनके प्रभावी प्रसार - प्रचार एवं क्रियान्वयन के लिये राजभाषा हिन्दी के प्रयोग को और अधिक बढ़ाना होगा जो आज की एक बड़ी अनिवार्यता बन गई है।

Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned