सांसद रीता बहुगुणा जोशी की छह साल की पोती पटाखे से झुलसी, इलाज के दौरान हुई मौत

-भाजपा सांसद डॉ रीता बहुगुणा जोशी परिवार संग दुखी

By: Mahendra Pratap

Updated: 17 Nov 2020, 11:18 AM IST

प्रयागराज. भाजपा सांसद डॉ रीता बहुगुणा जोशी की पोती की पटाखे से जलने से मौत हो गई है। सोमवार शाम बच्चों संग पटाखा छुड़ाते वक्त बच्ची गंभीर रुप से झुलस गई थी। करीब 60 फीसदी शरीर का हिस्सा पटाखे से झुलस गया था। जिसके बाद उसे एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया परन्तु मंगलवार सुबह उसकी मृत्यु हो गई।

बताया जा रहा है कि इलाहाबाद से सांसद डॉ. रीता बहुगुणा जोशी की छह साल की पोती सोमवार शाम तकरीबन 4.30 बजे के करीब बच्चों संग पटाखे छुड़ा रही थी। उसी वक्त अचानक यह हादसा हुआ। तत्काल प्रयागराज के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां डाक्टरों ने परीक्षण के बाद बताया कि बच्ची करीब 60 प्रतिशत जल गई है। बेहतर इलाज के लिए मंगलवार सुबह एयर एम्बुलेंस से दिल्ली में मिलिट्री हॉस्पिटल में इलाज कराने की तैयारी कर ली गई थी। पर मंगलवार सुबह अचानक पोती की मृत्यु हो गई। मासूम बच्ची की मौत से जोशी परिवार दुखी है।

पोती ने कोरोना को दिया था मात :- बताया जा रहा है कि छह साल की बच्ची कुछ दिन पहले ही कोरोना वायरस को मात देकर घर लौटी थी। 9 सितंबर को सांसद डॉ. रीता बहुगुणा जोशी, बहू रिचा संग पोती किया कोरोना संक्रमित पाई गई थीं। गुडगांव के एक निजी अस्पताल में इन तीनों का इलाज हुआ था। दीवाली के अवसर पर सांसद डॉ. रीता जोशी अपने पति पीसी जोशी के साथ प्रयागराज आवास पर आई थीं। बहू रिचा बेटी किया को लेकर पोनप्पा मार्ग स्थित अपने मायके गईं थीं।

पोती का नाम किया था :- सांसद डॉ. रीता बहुगुणा जोशी के मीडिया प्रभारी अभिषेक शुक्ल ने बताया कि, बच्चे घर की छत पर खेल रहे थे। पटाखा फटने से किया गंभीर रूप से घायल हो गई। अस्पताल में डॉक्टरों ने उसके 60 प्रतिशत तक जलने की जानकारी दी। सांसद के इकलौते बेटे मयंक लखनऊ में हैं और वहीं से सीधे दिल्ली पहुंच रहे हैं। मयंक की शादी वर्ष 2007 में हुई थी। किया उनकी इकलौती बेटी थी।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned