हैदराबाद का नाम 'भाग्यनगर' होने से बदलेगा ओवैसी का भाग्य : महंत नरेंद्र गिरि

-सीएम योगी के प्रस्ताव पर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष ने लगाई मोहर
-1 दिसंबर को ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव (Greater Hyderabad Municipal Corporation) के लिए पड़ेंगे वोट

By: Mahendra Pratap

Updated: 30 Nov 2020, 01:20 PM IST

प्रयागराज. हैदराबाद का नाम बदलकर 'भाग्यनगर' करने की सीएम योगी के चुनावी ऐलान के समर्थन में यूपी के ढेर सारे साधु संत आ गए है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (Akhil Bhartiya Akhara Parishad) के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri) ने सीएम योगी के प्रस्ताव पर खुशी जताते हुए कहाकि, मुसलमानों ने देश पर कई वर्षों तक राज किया, कई शहरों के नामों का इस्लामीकरण कर दिया। पर अगर हैदराबाद का नाम बदल भाग्यनगर हो जाए तो यह खुशी की बात होगी।

ओवैसी की आपत्ति पर महंत नरेंद्र गिरि का तंज :- एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी की आपत्ति पर तंज कसते हुए महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि, हैदराबाद का नाम भाग्यनगर होने से ओवैसी का भी भाग्य बदलेगा। शनिवार और रविवार दो दिन तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने चुनावी जनसभा को संबोधित किया। जिसमें सीएम योगी ने कहा कि फैजाबाद का नाम अयोध्या, इलाहाबाद का नाम जब प्रयागराज हो सकता है तो फिर हैदराबाद का नाम भाग्यनगर क्यों नहीं हो सकता है।

1 दिसंबर को ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव के लिए पड़ेंगे वोट :- ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम के चुनाव 1 दिसंबर यानि की मंगलवार को होने जा रहा है। 4 दिसंबर को नतीजे आ जाएंगे। यहां 150 सीटें हैं। पिछले चुनाव में 99 सीटें तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) को मिली थी। 44 सीटें औवेसी के खाते में गई। भाजपा को सिर्फ चार सीटों से संतोष करना पड़ा था। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम का सालाना बजट लगभग साढ़े पांच हजार करोड़ रुपए का है। और आबादी लगभग 82 लाख लोगों की है। इस बार ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव में अधिक सीटें हासिल करने के लिए भाजपा ने अपनी पूरी ताक़त लगा दी है। यह विषय जनता और राजनीतिक पार्टियों में चर्चा का विषय बना हुआ है।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned