पुरषोतम मास में पूजा अर्चना का कई गुना होता है लाभ: प्रेम भूषण जी महाराज

पूज्य प्रेम भूषण जी महाराज से रामजन्म कथा सुनकर भावविभोर हुए भक्त.

By: Abhishek Gupta

Published: 16 May 2018, 09:27 PM IST

लखनऊ. परमपूज्य प्रेम भूषण जी महाराज द्वारा राजधानी के बलरामपुर गार्डन में चल रही श्रीराम कथा के दूसरे दिन आज महाराज ने राम जन्म की कथा का शानदार वर्णन किया। पूज्य महाराज ने राम जन्म की कथा में कहा कि जब-जब धरती पर धरम की हानि होती है, पापाचार्य बढ़ता है तब-तब भगवान किसी न किसी रूप में इस धरती पर अवतरित होते हैं। ऐसा ही एक रूप ईश्वर के अवतार में भगवान् श्रीराम का था।

ये भी पढ़ें- UP Police Constable Result 2015 आने का बाद अखिलेश यादव ने किया एक और धमाकेदार ऐलान, अभ्यार्थियों में खुशी की लहर

पुरषोतम मास में पूजा अर्चना का कई गुना होता है लाभ-

पूज्य महाराज ने आगे कहा कि इस समय पुरुषोत्तम मास चल रहा है जो कि हर तीन साल में एक बार आता हैं। उन्होंने कहा कि पुरषोतम मास में पूजा अर्चना का कई गुना लाभ होता है। अपनी कथा के सूक्त को बतलाते हुए पूज्य महाराज ने कहा कि सत्कर्मों को करते हुए प्रभु को जो अच्छा लगे वही हमें अच्छा लगना चाहिए। मानव जीवन में जितना सत्कर्म हो जाये वहीं अपनी निजी संपत्ति है। उन्होंने कहा कि अपने लिए नहीं बल्कि दूसरों के लिए व्यवहार करता है। वहीं परमार्थी है। उन्होंने कहा कि आनंद विषय में नही बल्कि सत्संग में आना चाहिए।

ये भी पढ़ें- वाराणसी फ्लाईओवर हादसे से गुस्साईं सपा प्रवक्ता, पूछ डाले ऐसे सवाल कि यूपी सरकार की बोलती हुई बंद

बलरामपुर गार्डन में चल रही 9 दिवसीय श्रीराम कथा में आज भक्तों का जोश भी देखते ही बन रहा था। प्रभु श्रीराम की भक्ति रस में बह रहे पंडाल में उपस्थित भक्तों का जोश पूज्य महाराज के हर भजन के साथ हिलोरे मार रहा था।

ये भी पढ़ें- वाराणसी फ्लाईओवर हादसे पर मायावती ने कर दी बड़ी घोषणा, पीएम मोदी के 'मन पर बोझ' वाले बयान पर कह दी ये बात

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned